More

    Latest Posts

    Devraha Baba और Ayodhya Ram Mandir का सम्बंध जानिए विस्तार से

    मिर्ज़ापुर : श्री राम जन्मभूमि पर भव्य मंदिर (Ayodhya Ram Mandir) निर्माण के लिए भूमि पूजन 5 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी...

    AAJ KA RASHIFAL 5 AUGUST 2020 : क्या है आज के दिन के लिए खास जानिए अपने नाम के पहले अक्षर से

    निम्नलिखित Aaj Ka Rashifal 5 AUGUST 2020 ग्रहों के प्रभाव की गणना के अनुसार आंकलित है। यह आम जनमानस को दैनिक दिनचर्या...

    UPSC Result 2019 : मिर्ज़ापुर के सौरभ पाण्डेय बने IAS, बढ़ाया जिले का गौरव

    मिर्ज़ापुर के सौरभ पाण्डेय बने IAS, बढ़ाया जिले का गौरवमिर्ज़ापुर की धरती के अनगिनत वीरों को जन्म दिया है जो देश दुनिया में जिले का नाम रौशन करते रहे हैं । आज उस सूची में एक और नाम जुड़ गया है। नाम है सौरभ पाण्डेय, तरकापुर के विशाल पूरी कॉलोनी से जो अब आई ए एस 66 वी रैंक प्राप्त कर बन चुके हैं।कैसा रहा आई ए एस बनने का सफ़रसौरभ बताते हैं कि उन्हें ये कामयाबी कई प्रयासों के बाद मिली हैं। इससे पहले उन्हें कई बार नाकामी का सामना करना पड़ा, लेकिन हार न मानते हुए निरंतर अभ्यास जारी रखा।मिर्ज़ापुर से वाराणसी शुरुआती शिक्षा के लिए जाना हुआ। उसके बाद बिट्स पिलानी राजस्थान में उच्चतर शिक्षा ग्रहण करते हुए । अपने लक्ष्य की ओर बढ़ें।समाज में क्या बदलाव लाना चाहते हैंसौरभ का कहना है कि भारत में अच्छी शिक्षा व्यवस्था की आवश्यकता है। किसी भी देश के उज्ज्वल भविष्य में शिक्षा का महत्वपूर्ण योगदान है। इसलिए समाज में शिक्षा के क्षेत्र में कुछ बेहतर बदलाव लाना चाहते हैं।

    AAJ KA RASHIFAL 4 AUGUST 2020 : क्या है आज के दिन के लिए खास जानिए अपने नाम के पहले अक्षर से

    निम्नलिखित Aaj Ka Rashifal 4 AUGUST 2020 ग्रहों के प्रभाव की गणना के अनुसार आंकलित है। यह आम जनमानस को दैनिक दिनचर्या...
    <

    30 दिन में बदल गई लोगों की दिनचर्या,खो गई मिर्ज़ापुर की रौनक

    कोरोना वायरस ने नाक में दम कर रखा है इसके कारण पूरे देशभर में लागू हुए लॉकडाउन को आज यानी 24 April से 30 दिन पूरे हो गए या यूँ कहें एक पूरा महीना इस एक महीने में मानो पूरी की पूरी दुनिया ही बदल गई हो। सिटी कार्ट मॉल की चहल-पहल, राजश्री सिनेमा मल्टीप्लेक्स में फिल्मों की धूम, मिर्ज़ापुर शहर सड़कों पर गाड़ियों की भीड़ नहीं दिख रही। जीआइसी (GIC) के मैदान में खेल की गतिविधियां रुक गईं हैं सभी स्कूल-कॉलेज बंद पड़े हैं। अब जो भी पढ़ाई लिखाई है वो सब अब ऑनलाइन ही हो रही है। गंगा किनारे पक्का घाट पर सिर्फ़ पक्षियों का डेरा है। मिर्ज़ापुर से दूसरे शहरों के लिए परिवहन बन्द है। गंभीर मरीजों का इलाज चल रहा है और हजारों जिंदगी दांव पर लगी हुई है।

    लॉकडाउन से कोरोना पर तो लगाम कसी है, पर दूसरी गंभीर बीमारी से जूझ रहे हजारों मरीजों की जिंदगी दांव पर लग गई है। जाँचे और ओपीडी सबकुछ ठप हैं। करीब 30 दिन पहले सरकारी अस्पतालों के 90 से 95 प्रतिशत बेड भरे रहते थे। अब 60 प्रतिशत बेड खाली हैं। इन्हें कोरोना मरीजों के लिए आरक्षित कर दिया गया है। ट्रॉमा सेंटर के 200 बेड तो भरे रहते थे। कुछ स्ट्रेचर पर भी मरीजों लेटा कर इलाज मुहैया कराया जाता था। इस वक्त ट्रॉमा में केवल आंशिक रूप से मरीज भर्ती हैं। अस्पताल के कई वार्डों में एक भी मरीज नहीं है। वहीं 80 प्रतिशत प्राइवेट अस्पताल नए मरीज नहीं ले रहे हैं।

    उड़ानें बंद हैं सिर्फ मेडिकल सहायता लेकर आ रहे विमान

    बाबतपुर हवाई अड्डे पर सन्नाटा पसरा रहता है। कुछ विमान आते भी हैं तो राज्य सरकार के या फिर सेना के होते हैं। सेना के विमान मेडिकल किट या अन्य आवश्यक सामग्री लेकर आते रहते हैं। बाकी राजधानी से भी कुछ उपकरण या जरूरी सामान दूसरे राज्यों को भेजे जा रहे हैं।

    यह आया बदलाव-
    ना घरेलू और अन्तरराष्ट्रीय टर्मिनल पर आ रहे थे। लॉकडाउन से पहले हज़ारों की तादात में यात्री रोजाना यात्रा करते थे रेल पटरियां सूनीं, सारे फ़टका या क्रांसिग हैं खुली 24 घंटे यात्रियों से गुलजार रहने वाले मिर्ज़ापुर स्टेशन पर अजीब सा फैला पसरा है। रेल पटरियां सूनी हैं पर लोग सुबह-सुबह खाली पटरियों पर अपना काम करते नज़र आ ही जाते हैं क्योंकि अब उन्हें किसी ट्रेन के आने का भय नही रहा घंटों बैठ कर पेट साथ-साथ दिमाग़ का बोझ हल्का करते हैं। वहीं इसके उलट हजारों रेल कर्मियों और लाखों यात्रियों की जिंदगी ठहर सी गई है। सैकड़ों ट्रेनों से करीब डेढ़ लाख यात्त्री सफर करते थे, वासलिगंज की सड़कों पर दिख रहे कुछ वाहन और शास्त्री पुल पर 20 प्रतिशत वाहन गुजर रहे। एक माह पहले तक सड़कों पर ज्यादातर सिर्फ दो पहिया और चार पहिया वाहन गुजरते थे और ई-रिक्शा वालों का सैलाब होता था अब सभी रास्ते बंद हैं। किसी को भी बाहर निकलने की अनुमतिनहीं है।

    कब खुलेंगे सिनेमाघर और मॉल, करोड़ों का नुकसान

    मिर्ज़ापुर में पिक्चरबाजों की कमी नहीं है इसी कारण से सिनेमाघरों में फिल्म देखने के लिए शौकीन लोगों की लंबी लंबी कतार लगती थी। आज के मौजूदा समय में सब सूना पड़ा है। वैसे ही मिर्ज़ापुर में ले दे के 2ठो सिनेमा हाल बचा था बाकी के नवीन,नटराज,द्वारिका और अप्सरा सिनेमा कब के दम तोड़ चुके हैं। पिछले एक महीने से सिनेमाघर बंद हैं।

    मिर्ज़ापुर जनपद वासी अब टीवी और मोबाइल पर ही फिल्म देख रहे हैं। युवाओं में वेब सीरीज देखने की जिज्ञासा बढ़ गई है। वहीं बच्चे कार्टून में व्यस्त है। अब तो दूरदर्शन पर शक्तिमान भी शुरू हो गया है। वहीं लेडीज़ मार्केट पक्का घाट और एकलौता मॉल या कह लें सुपरमार्केट में भी सन्नाटा पसरा हुआ है। मिर्ज़ापुर में सिनेमाहॉल के उद्योग पहले से काफी चरमरा हुआ हैं। ऐसा अनुमान है कि इनका एक महीने का करीब 15 से 20 लाख का बिजनेस होता है। वहीं मॉल में करीब डेढ़ करोड़ से ज्यादा का बिजनेस होता है। इस महामारी की वजह से बिजनेस रुका पड़ा हुआ है।

    मिर्ज़ापुर में अब प्रदूषण स्तर कम होने से शहर व उसके आसपास की हवा शुद्ध हो गई है। गंगा का पानी भी अब पहले से साफ नजर आ रहा है । गंगा किनारे रहने वालों की माने तो जलक्रीडा करते हुए अक्सर सोईस और घड़ियालों को देखा जा रहा है विन्ध पवर्त वासियों को भी वन क्षेत्र के करीब अद्भुत अनुभव हुये। लॉकडाउन के चलते अब एक बार फिर जंगल की गूंज साफ सुनाई देने लगी है।

    लाख रुपये ही प्रतिदन हो रही जल-कर वसूली । लॉक डाउन लगते ही शुरू हुआ तो मार्च का महीना था। अब अप्रैल शुरू होते ही नया वित्तीय वर्ष शुरू हो गया। इसको देखते हुए वसूली तो प्रभावित हुई है। अप्रैल माह में अच्छी खासी लाखों में प्रतिदिन जल व सीवर-कर की वसूली हुआ करती थी। लॉकडाउन के दौरान हमने ऑनलाइन बिल जमा करवाने की व्यवस्था शुरू की है जिससे थोड़ी बहुत ही वसूली आ रही है।

    प्राइमरी पाठशाला से लेकर इंजीनियरिंग तक बदला पढ़ाई का ट्रेंड

    इस लॉकडाउन ने प्राइमरी, माध्यमिक, डिग्री कॉलेज समेत इंजीनियरिंग कॉलेजों में पढ़ाई का ट्रेंड बदल दिया है। व्हाट्सएप, गूगल मीट, जूम एप के जरिए छात्रों की नियमित कक्षाएं लग रही हैं। मिर्ज़ापुर के कुछ विद्यालयों ने अपने यहां वर्चुअल प्रैक्टिकल कराने को भी हरी झंडी दे दी है। सबसे ज्यादा कायाकल्प प्राइमरी स्कूलों का हुआ है। कम संसाधनों में शिक्षक व्हाट्सएप के जरिए छात्रों की न सिर्फ नियमित कक्षाएं ले रहे हैं बल्कि उनके टेस्ट भी करा रहे हैं। प्रदेश के 900 से अधिक शिक्षक करीब 25 हजार से अधिक बच्चों को ऑनलाइन पढ़ा रहे हैं। प्रदेश के 750 इंजीनियरिंग कॉलेजों में पढ़ने वाले 2.5 लाख से अधिक छात्र-छात्राओं को सबसे अधिक फायदा पहुंच रहा है। यहां पर 80 प्रतिशत कोर्स शिक्षकों ने ऑनलाइन पूरा करा दिया है। लॉकडाउन ने ऑनलाइन कक्षाओं का नया विकल्प खोल दिया है।

    200 करोड़ का नुकसान हुआ, 60 फीसदी दुकानें बंद

    पिछले साल उत्तर प्रदेश में लगभग 70 हजार करोड़ रुपये टैक्स के रूप में वसूले गए थे। लेकिन इस बार 30 दिन के अंदर शहर में लगभग दो सौ करोड़ रुपये का Tax का नुकसान हुआ है। इस बार शहर से भी बहुत कम रुपये का राजस्व प्राप्त हुआ था। वाणिज्य कर विभाग के आंकड़ों से सम्बंधित अधिकारियों की मानें तो व्यापारियों का कारोबार बंद होने से दो सौ करोड़ रुपये राजस्व का नुकसान हुआ है। यह अर्थव्यवस्था के लिए काफ़ी बुरी ख़बर है।

    गरीबों के लिए मसीहा बना नगर पालिका

    लॉकडाउन से नगर पालिका के राजस्व को काफ़ी ज्यादा का नुकसान हो चुका है। इसके बावजूद नगर पालिका ने बिना किसी सरकारी मदद या नगर निगम के कोष से धन खर्च किए हजार लोगों हो हर दिन भोजन मुहैया करा रहा है। लॉकडाउन ने जहां कई सकारात्मक और अच्छाइयां दी हैं वहीं कुछ दिक्कतें भी पैदा की हैं। यह अच्छाइयां और दिक्कते हर वर्ग के लिए हैं। आइए इस तथ्यों पर नज़र डालते हैं:-

    अच्छी बातें

    • घरवालों के साथ वक़्त बिताने का मौक़ा मिल रहा है
    • अपने घर का बना भोजन कर रहे हैं जो स्वाद के साथ स्वास्थ्य के लिए भी उत्तम है
    • अपने भीतर ही जंग खा रहे टैलेंट ल और क्रिएटिविटी बाहर ला रहे हैं।
    • भाग दौड़ भरी जिंदगी और थकना मना है इसलिए घर पर आराम करने का एक बढ़िया मौका मिला
    • तमाम के उट पटाँग के फालतू खर्च से फिलहाल छुटकारा मिला
    • लोगों में एक-दूसरे की सहायता करने का जज्बा और जोश ज्यादा बढ़ा

    बुरी बातें

    • बंद होने से बड़ा नुकसान काम-धंधे और कारोबार
    • स्कूली बच्चों और कई क्षेत्रों में अपना भविष्य तलाशने वालों को बड़ा झटका
    • खिलाड़ियों की ऑफ सीजन ट्रेनिंग पर असर
    • शारिरिक तंदुरुस्ती के लिए मॉर्निंग एवं इवनिंग वॉक (खासकर मधुमेह और रक्तचाप) करने वालों के सामने दिक्कत

    Latest Posts

    Devraha Baba और Ayodhya Ram Mandir का सम्बंध जानिए विस्तार से

    मिर्ज़ापुर : श्री राम जन्मभूमि पर भव्य मंदिर (Ayodhya Ram Mandir) निर्माण के लिए भूमि पूजन 5 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी...

    AAJ KA RASHIFAL 5 AUGUST 2020 : क्या है आज के दिन के लिए खास जानिए अपने नाम के पहले अक्षर से

    निम्नलिखित Aaj Ka Rashifal 5 AUGUST 2020 ग्रहों के प्रभाव की गणना के अनुसार आंकलित है। यह आम जनमानस को दैनिक दिनचर्या...

    UPSC Result 2019 : मिर्ज़ापुर के सौरभ पाण्डेय बने IAS, बढ़ाया जिले का गौरव

    मिर्ज़ापुर के सौरभ पाण्डेय बने IAS, बढ़ाया जिले का गौरवमिर्ज़ापुर की धरती के अनगिनत वीरों को जन्म दिया है जो देश दुनिया में जिले का नाम रौशन करते रहे हैं । आज उस सूची में एक और नाम जुड़ गया है। नाम है सौरभ पाण्डेय, तरकापुर के विशाल पूरी कॉलोनी से जो अब आई ए एस 66 वी रैंक प्राप्त कर बन चुके हैं।कैसा रहा आई ए एस बनने का सफ़रसौरभ बताते हैं कि उन्हें ये कामयाबी कई प्रयासों के बाद मिली हैं। इससे पहले उन्हें कई बार नाकामी का सामना करना पड़ा, लेकिन हार न मानते हुए निरंतर अभ्यास जारी रखा।मिर्ज़ापुर से वाराणसी शुरुआती शिक्षा के लिए जाना हुआ। उसके बाद बिट्स पिलानी राजस्थान में उच्चतर शिक्षा ग्रहण करते हुए । अपने लक्ष्य की ओर बढ़ें।समाज में क्या बदलाव लाना चाहते हैंसौरभ का कहना है कि भारत में अच्छी शिक्षा व्यवस्था की आवश्यकता है। किसी भी देश के उज्ज्वल भविष्य में शिक्षा का महत्वपूर्ण योगदान है। इसलिए समाज में शिक्षा के क्षेत्र में कुछ बेहतर बदलाव लाना चाहते हैं।

    AAJ KA RASHIFAL 4 AUGUST 2020 : क्या है आज के दिन के लिए खास जानिए अपने नाम के पहले अक्षर से

    निम्नलिखित Aaj Ka Rashifal 4 AUGUST 2020 ग्रहों के प्रभाव की गणना के अनुसार आंकलित है। यह आम जनमानस को दैनिक दिनचर्या...

    Don't Miss

    मिर्ज़ापुर District Hospital में बिजली और डॉक्टर दोनों हैं गुल : देखिए वीडियो

    मिर्ज़ापुर : जनपद के मंडलीय अस्पताल District Hospital की बदहाली का आलम इस तरह है कि जहाँ देश भर में कोविड-19 जैसी...

    मण्डलीय अस्पताल में निजी दवा कंपनियों के Medical Representative का बोलबाला

    मिर्ज़ापुर : मिर्ज़ापुर के मंडलीय अस्पताल में निजी दवाई कंपनियों के MR (Medical Representative) यानी मेडिकल रिप्रजेंटेटिव Medical Representative का है बोलबाला...

    Dil Bechara सुशान्त सिंह की आखिरी फिल्म कब और कहाँ होगी रिलीज़,आइये जाने पूरी जानकारी

    Dil Bechara : आपको बता दे सुशान्त सिंह राजपूत "काय पो छे" से बड़े पर्दे में एंट्री की थी। इस फिल्म से...

    सपा सांसद ने कहा Bakra Eid पर सामूहिक नमाज पढ़ने से ही देश को मिलेगा कोरोना से छुटकारा

    सम्भल : राजनीतिक पार्टियों के कुछ नेता अक्सर अपने उटपटांग बयानों से सुर्खियों में रहते है। कभी सपा नेता आज़म खान रहते...

    AAJ KA RASHIFAL 23 JULY 2020 : कन्या राशि के जातकों का दिन रोमांस से भरपूर होगा, जाने अन्य राशियों का हाल अपने नाम...

    निम्नलिखित Aaj Ka Rashifal 23 JULY 2020 ग्रहों के प्रभाव की गणना के अनुसार आंकलित है। यह आम जनमानस को दैनिक दिनचर्या...
    Open chat