क्या है "बुल्ली बाई" एप, इससे क्यों है मुस्लिम महिलाएं नाराज, क्यों पकड़ रही है सबको पुलिस

बुल्ली बाई नाम का एक ऐप है जिस को लेकर विवाद पिछले जुलाई महीने से चल रहा है। इस एप्लीकेशन में 80% मुस्लिम महिलाओं को बिक्री के लिए रख दिया गया।

 
image: mashable india

मुस्लिम महिलाओं ने मन में गुस्सा।

उत्तर प्रदेश, Digital Desk: नए साल में मुस्लिम महिलाएं एवं विशेषकर मुस्लिम महिलाओं की तस्वीरें कैप्शन करके "आज की आपकी बुल्ली" करके ट्विटर पर लगाई जा रही है। आप भी सोच रहे होंगे कि आखिर यह बुल्ली बाई है क्या? आखिरकार इसमें गिरफ्तारी क्यों रही है?, तो हम आज आपको यह विस्तार से बताने जा रहे हैं।

बुल्ली बाई:

बुल्ली बाई लोगों को बरगलाने और वित्तीय लाभ कमाने के लिए देशभर में एक संदिग्ध समूह द्वारा विकसित किया गया एप्लीकेशन है। एप्लीकेशन को बनाने का मकसद भारतीय महिलाओं की नीलामी के लिए रखना और बदले में पैसे कमाना है। इसमें ज्यादातर महिलाएं होती हैं यह ऑनलाइन स्कैमर सोशल मीडिया अकाउंट पर इन महिलाओं की तस्वीर चुरा लेते हैं और उन्हें प्लेटफार्म पर लगा देते हैं। इसलिए इन महिलाओं को हमेशा अपने मोबाइल फोन को लॉक करके रखना चाहिए। ताकि उनकी तस्वीर कहीं से चोरी न हो जाए ऐसे में प्रोफाइल पर वीरता की फोटो और पर्सनल डिटेल लगा दी जाती है, जो महिला की सहमति के बिना होती है।

विवाद:

इस एप्लीकेशन को लेकर 2 छात्रों को हिरासत में लिया गया। जिनमें से एक व्यक्ति मुंबई का है तो दूसरा बेंगलुरु का। इसके अतिरिक्त इससे पहले मंगलवार को भी इस मामले में उत्तराखंड की एक महिला को भी गिरफ्तार कर लिया गया था।

नेपाल से कनेक्शन:

इस एप्लीकेशन में मुंबई पुलिस ने उत्तराखंड की रहने वाली 18 साल की बच्ची को गिरफ्तार किया है। इस मामले में अब तक अहम खुलासा हुआ है, सूत्रों के अनुसार आरोपी युवती का नाम श्वेता सिंह है और वह नेपाल में स्थित एक सोशल मीडिया के मित्र के निर्देश पर काम कर रही थी। प्रथम जानकारी से यह पता चला है कि, एक नेपाली नागरिक एप्लीकेशन पर उसे निर्देश देता था।

सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्री अश्विनी वैष्णव ने बताया कि इस एप्लीकेशन पर यूजर को ब्लॉक कर दिया गया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है और उन्होंने बताया कि गिटहब की ओर से खुद रविवार सुबह एक यूजर को ब्लॉक करने की सूचना दी गई थी।