क्या बढ़ते ओमीक्रोन के चलते क्रिसमस और न्यू ईयर का जश्न मनाना होगा खतरनाक?, फिर से लगेगा लॉकडाउन

भारत में ओमिक्रोन तेजी से फैल रहा है, जिसपर यह वायरस और न फैले और भीड़ इकट्ठा न हो, इसलिए न्यू ईयर और क्रिसमस की पार्टियों पर प्रतिबंध लग सकता है।

 
image : INDIA TV
नीदरलैंड में 14 जनवरी तक लगा संपूर्ण लॉकडाउन, ब्रिटेन और अमेरिका में भी लग सकता है।

नई दिल्ली, Digital Desk: दक्षिण अफ्रीका से कई देशों में तेजी से फैल रहा कोरोनावायरस का यह नया वेरिएंट ओमीक्रोन लोगों की परेशानियों को और बढ़ा रहा है। अभी हाल ही में एक खबर आई कि अमेरिका में  ओमीक्रोन के चलते पहली मौत हुई, वहीं ब्रिटेन में तो इस वेरिएंट में 12 लोगों की जान ले ली है। इसी को मद्देनजर रखते हुए क्रिसमस और न्यू ईयर की पार्टी को लेकर सरकारों की चिंता बढ़ती जा रही है। वायरस फैलेगा इस बात की आशंका को देखते हुए नीदरलैंड ने तो पहले ही अपने यहां संपूर्ण लॉकडाउन की घोषणा कर दी है। वहां पर स्कूल, कालेज, म्यूजियम, डिस्को, रेस्टोरेंट पूरी तरह बंद है। वहीं अमेरिका और ब्रिटेन की सरकार भी क्रिसमस और नए साल की भीड़ को देखते हुए आंशिक लॉकडाउन लगा देगी।

प्रतिबन्ध:

ब्रिटेन में फिलहाल नाइटक्लब और पार्टियों में जाने के पहले वैक्सीनेशन का सर्टिफिकेट दिखाना आवश्यक है, यह भारत के नाइटक्लब और पार्टियों में भी लागू होती है। वही इजरायल, अमेरिका और जर्मनी सहित 10 देशों को फ्लाइट लिस्ट में डाल कर यात्रा पर प्रतिबंध लगा दिया है। फ्रांस की सरकार ने क्रिसमस और नए साल पर आतिशबाजी करने का पूरा प्रतिबंध लगा दिया है, ताकि भीड़ ना इकट्ठा हो सके। आयरलैंड ने अभी 8:00 बजे के बाद लॉक डाउन की घोषणा कर दी है।

भारत:

भारत के कई राज्यों में ओमिक्रोन वायरस तेजी से बढ़ता हुआ नजर आ रहा है। ऐसे में देश में सोमवार को ओमीक्रोन के 6 नए मामले सामने आए, जिसके बाद अब वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या 171 हो चुकी है । सबसे बड़ी बात यह है कि दिल्ली में ओमीक्रोन के मरीज अब लगातार मिल रहे हैं। दिल्ली में 6 महीने बाद लगभग पहली बार 1 दिन में 100 से ज्यादा कोरोना के केस देखने को मिले। महाराष्ट्र सरकार ने तो क्रिसमस और न्यू ईयर की पार्टी में प्रतिबंध लगाने की गाइडलाइन भी जारी कर दी है।

भारत में कोरोना की तीसरी लहर भी आ सकती है। इसके लिए एक्सपर्ट बार-बार चेतावनी दे रहे हैं। पहली बार चेतावनी आईआईटी कानपुर ने दी थी कि, जनवरी और फरवरी में कोरोनावायरस की तीसरी लहरा सकती है। दूसरी चेतावनी नीति आयोग ने दी कि अगर तीसरी लहर आई तो देश में रोजाना 1400000 से भी ज्यादा केस देखने को मिल सकते हैं। जो दुनिया में सबसे बड़ा आंकड़ा बन जाएगा। वहीं तीसरी चेतावनी ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी की प्रोफेसर ने दी है कि, अगली महामारी और ज्यादा घातक हो सकती है।

सुरक्षा:

सुरक्षा के तौर पर हमारे पास दो ही विकल्प है कि, बाहर जाएं तो मास्क लगाएं और अपने वैक्सीनेशन की प्रक्रिया को पूरा करें। ज्यादा आवश्यक न हो तो घर से बाहर न निकले एवं साफ सफाई का ध्यान रखें।