Mirzapur News: छुट्टा पशु आ जाने से अनियंत्रित बाइक सवार, हेड कांस्टेबल राधेश्याम की मृत्यु

मवेशी के चलते ड्यूटी के दौरान बाइक से जा रहे मुख्य आरक्षी हेड कांस्टेबल राधेश्याम यादव की सड़क दुर्घटना में मृत्यु हो गई है।

 
IMAGE: SELF
मवेशी का सड़कों पर आ जाना एक बहुत बड़ी समस्या है।


मिर्ज़ापुर, Digital Desk: मिर्ज़ापुर नगर (Mirzapur News) में आवारा पशुओं का सड़क पर इस तरह घूमना लोगों के लिए अब खतरा बनता जा रहा है। मिर्ज़ापुर (Mirzapur) में आवारा पशुओं की घूमने की वजह से बड़ी दुर्घटना हुयी , जिसपर जनता यह मांग कर रही है कि आवारा पशुओं की समस्या को लेकर कुछ ठोस कदम उठाने चाहिए। आवारा पशुओं की समस्या प्रदेश की एक बहुत बड़ी समस्या है। जिस पर विपक्ष हमेशा मौजूदा सरकार पर निशाना साधता रहता है।  

हेड कांस्टेबल की मौत:
रोड पर पशुओं के चलते ड्यूटी के दौरान बाइक से जा रहे मुख्य आरक्षी हेड कांस्टेबल राधेश्याम यादव की सड़क दुर्घटना में मृत्यु हो गई है। राधेश्याम बाइक से जा रहे थे तभी अचानक रास्ते पर मवेशी के आ जाने से गाड़ी अनियंत्रित हो गई, जिससे वह गिरकर घायल हो गए। घायल कांस्टेबल को वाराणसी के ट्रामा सेंटर किया गया, लेकिन इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई।

यह भी पढ़े: सोनभद्र-मिर्ज़ापुर सड़क मार्ग बनेगा फोर लेन मार्ग

राधेश्याम यादव विंध्याचल कोतवाली के अष्टभुजा चौकी पर तैनात थे। उनकी मौत की खबर से चौकी पर शोक की लहर है। यह हादसा विंध्याचल इलाके की बिरोही गांव के पास हुआ है। जहां अचानक मवेशी आ जाने से राधेश्याम की गाड़ी अनियंत्रित हो गई और वह गिरकर घायल हो गए और अंततः उनकी मृत्यु हो गई।

एक रिपोर्ट के अनुसार सरकार छुट्टा पशुओं के लिए हर वर्ष बहुत सारे पैसे खर्च करती है। लेकिन फिर भी इनपर पूर्ण रूप से निजात नहीं पाया जा सका है। राधेश्याम सिंह गाजीपुर जिले की रहने वाले थे और 1991 में उनकी पुलिस विभाग में नियुक्ति हुई थी। बाइक से भ्रमण के दौरान निकले थे तभी यह हादसा हुआ।