Vindhyachal News: विंध्यांचल पहुँचे योगेश्वर राम मिश्र, साफ-सफाई का लिया जायज़ा

योगेश्वर राम मिश्रा के नेतृत्व में ही विंध्य कॉरीडोर के लिए रिकॉर्ड समय में भूमि अधिग्रहण का काम किया गया है।

 
vindhya corridor
लोगों के बीच एक आशा की किरण जग गई है कि वह जल्द ही कॉरिडोर के निर्माण का काम करेंगे और योगी आदित्यनाथ का ड्रीम प्रोजेक्ट बनकर तैयार हो जाएगा।

विंध्यांचल, Digital Desk: मिर्ज़ापुर विंध्याचल मंडल (Mirzapur) के मंडल अध्यक्ष योगेश्वर राम मिश्रा को तीर्थ विकास परिषद का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है। लोगों में चर्चा बनी हुई है कि मुख्यमंत्री के ड्रीम प्रोजेक्ट का काम दर्शनार्थियों को मुश्किलों से निजातदिलाएगा। बता दें कि योगेश्वर राम मिश्रा के नेतृत्व में ही विंध्य कॉरीडोर के लिए रिकॉर्ड समय में भूमि अधिग्रहण का काम किया गया है। इतना ही नहीं तमाम अवरोधों के बावजूद योजना के लिए जमीन खरीदकर ऐतिहासिक शिलान्यास अगस्त 2021 को किया गया था। इसमें गृह मंत्री अमित शाह और योगी आदित्यनाथ उपस्थित थे।

करोना काल के बाद भी वास्तविक नवरात्रि मेले पर निर्देशन देते हुए शांतिपूर्ण व्यवस्था ढंग से नवरात्रि मेले का समापन किया गया। योगेश्वर मिश्र को विकास परिषद का प्रभार मिलने के बाद अब लोगों के बीच एक आशा की किरण जग गई है कि वह जल्द ही कॉरिडोर के निर्माण का काम करेंगे और योगी आदित्यनाथ का ड्रीम प्रोजेक्ट बनकर तैयार हो जाएगा।

यह भी पढ़ें: Chunar Mirzapur News: लगभग 50 लाख़ रुपये की लागत से होगा शिवशंकरी धाम मंदिर का सौंदर्यीकरण

धाम के 50 फीट चौड़ी परिक्रमा पथ मार्गों के निर्माण मंदिर को जोड़ने वाली सड़क का कायाकल्प करने में पूरा प्रोजेक्ट तैयार हो जाएगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की इच्छा के अनुसार विंध्यांचल, अष्टभुजा मंदिर और कालीखोह मंदिरों पर विंध्य धाम परिषद का नियंत्रण होगा।

अभी तक मंदिर के साथ ही त्रिदेवी मंदिर की व्यवस्था जिला स्तर पर गठित विंध्य विकास परिषद ट्रस्ट करती थी। जिसकी व्यय को लेकर हमेशा लोगों के बीच सवाल उठते थे। यह मंदिर के दान पात्रों में आने वाले दान, सोना और चांदी रखती थी। लेकिन अब इसका लेखा-जोखा विंध्य धाम तीर्थ विकास परिषद करेगा।