15 साल की लड़की से 30 साल का आदमी करने पहुँचा था शादी, घराती व बराती गिरफ्तार

बाल विवाह निषेध संशोधन बिल 2021 में महिलाओं की शादी की उम्र 18 साल से बढ़ाकर अब 21 साल करने का प्रस्ताव है
 
बाल विवाह कराने पर घराती व बराती हिरासत में, दुल्हा फरार
दूल्हा पक्ष की ओर से एक लाख रुपये देने की बात की गई थी?


मिर्ज़ापुर, Digital Desk: एक तरफ जहाँ से में देश में लड़कियों की शादी उम्र बढ़ा कर 21 साल करने की कवायद चल रही है। बाल विवाह निषेध संशोधन बिल 2021 में महिलाओं की शादी की उम्र 18 साल से बढ़ाकर अब 21 साल करने का प्रस्ताव है, वहीं भारत के कुछ क्षेत्रों में बाल विवाह के मामले आये दिन सामने आते रहते हैं। 

इसी तरह की बाल विवाह की घटना मिर्ज़ापुर के देहात कोतवाली क्षेत्र के कोटवां पांडेय गांव में प्रकाश में आया जहाँ 15 साल की किशोरी से शादी रचाने मैनपुरी से 30 वर्षीय युवक परिजनों संग पहुँचा था।

इस मामले की ख़बर मिलने पर पहुंचे प्रोबेशन विभाग व देहात कोतवाली पुलिस ने नाबालिग से हो रही शादी को फ़ौरन रुकवाया। साथ ही पुलिस ने मौके से दूल्हा पक्ष के दो लोगों को हिरासत में लेकर जांच में जुट गई है। 

भारी रकम का लेनदेन

एक और चौकाने वाली बात सामने आ रही है कि दूल्हा पक्ष की ओर से एक लाख रुपये देने की बात की गई थी। फिलहाल अभी इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। पुलिस दोनों पक्षों को कोतवाली लाकर पूछताछ कर रही है।

डोम बिरादरी के मैनपुरी जिले का रहने वाला एक 30 वर्षीय युवक अपने परिजनों के साथ एक बोलेरो से देहात कोतवाली क्षेत्र के कोटवा गांव एक 15 वर्षीय किशोरी से शादी करने आया था। लड़के पक्ष के लोग गांव के किसी व्यक्ति के यहां दो दिन से रुके हुए थे।

15 साल की मासूम लड़की से शादी होने की सूचना पर देर शाम जिला प्रोबोशन अधिकारी शक्ति त्रिपाठी व देहात कोतवाल विजय कुमार चौरसिया व बरकछा चौकी इंचार्ज अपनी टीम के साथ गांव पहुंचे। टीम ने नाबालिग से हो रही शादी को तत्काल रुकवाया। लेकिन पुलिस के पहुंचने से पहले दूल्हे पक्ष के कुछ लोग फरार हो गए थे। 

पुलिस ने दूल्हे पक्ष के दो व्यक्तियों को हिरासत में ले लिया। बताया गया कि दूल्हे पक्ष के लोग मिर्ज़ापुर सिटी खरीदारी करने गए हैं। पुलिस सभी को हिरासत में लेकर कोतवाली ले आई।

इस बात की भी सुगबुगाहट तेज़ है कि लड़के पक्ष ने लड़की पक्ष को शादी के लिए भारी रकम लगभग एक लाख रुपये भी दिए हैं। लेकिन पुलिस की पूछताछ में अभी तक रुपये लेने की बात स्पष्ट नहीं हुई है। पुलिस मामले की जांच में जुट गई है। 

ये नाबालिग से शादी करने का पहला मामला नहीं

मिर्ज़ापुर जिले में इस तरह दूसरा ऐसा मामला है कि पुलिस ने नाबालिग से हो रही शादी को रुकवाया। कुछ महीने पूर्व लालगंज में भी एक ऐसा मामला आया था। जिसमें सीतापुर का 38 वर्षीय युवक अपने परिवार के साथ लालगंज पहुंचकर 11 साल बालिका से शादी रचाने आया था। लेकिन मौके पर पहुँची पुलिस ने शादी को रुकवा दिया था। वहीं पुलिस ने आरोपी दूल्हा समेत छह लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर कार्रवाई की थी। 

अपर पुलिस अधीक्षक संजय वर्मा ने बताया कि 'देहात कोतवाली के कोटवा में एक 15 वर्षीय नाबालिग से हो रही शादी को पुलिस ने रुकवाया है औऱ शादी करने वाला युवक मैनपुरी का है। पुलिस ने दो लोगों को हिरासत में लिया है। दोनों पक्षों को कोतवाली लाकर पूछताछ की जा रही है। मिर्ज़ापुर जिला प्रोबेशन अधिकारी शक्ति त्रिपाठी की तहरीर पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।'

रिपोर्ट- रवि यादव, जिला संवाददाता
मिर्ज़ापुर ऑफिशियल