उत्तर प्रदेश शासन द्वारा नामित नोडल अधिकारी अनुराग यादव ने रोडवेज परिसर रैन बसेरा का किया निरीक्षण

नोडल अधिकारी/सचिव नगर विकास ने बैठक कर कोविड, गोवंश आश्रय स्थलों व रैन बसेरो की तैयारियो का लिया जायजा
 
नामित नोडल अधिकारी अनुराग यादव ने रोडवेज परिसर रैन बसेरा का किया निरीक्षण

जनपद में प्रथम डोज 98.31 व द्वितीय डोज 59.39 प्रतिशत किया गया वैक्सीनेशन


मिर्ज़ापुर: शासन द्वारा जनपद के लिये नामित नोडल अधिकारी/सचिव नगर विकास उत्तर प्रदेश शासन अनुराग यादव ने आज अपने जनपद भ्रमण के दौरान कलेक्ट्रेट सभागार में अधिकारियों के साथ बैठक कर कोविड संक्रमण के रोक थाम बचाव, गोवंश आश्रय स्थलों व शीतलहर के दृष्टिगत बनाये गये रैन बसेरो के सम्बन्ध में जानकारी ली तथा रोडवेज परिसर मिर्ज़ापुर में स्थापित रैन बसेरा का निरीक्षण किया। कोविड के तैयारियो के सम्बन्ध में उन्होने कहा कि बढ़ते हुये संक्रमण से बचाव व जागरूकता के लिये भीड़ भाड़ वाले स्थलों, प्रमुख बाजारों, आने वाले त्यौहारों एवं मेला स्थलों पर प्रचार प्रसार कराकर मास्क व सेनेटाइजर का प्रयोग करने सोशल डिस्टेसिंग बनाये रखने के प्रति लोगो को जागरूक किया जाय।

उन्होने पुलिस अधीक्षक नगर से कहा कि प्रातः कालीन लगने वाले सब्जी मण्डियों में पुलिस का गश्त कराकर मास्क लगाने के प्रति जागरूक किया जाय। बढ़ते कोरोना के दृष्टिगत उन्होने कहा कि जनपद के अस्पतालो व विभिन्न स्थलो पर लगाये गये आक्सीजन गैस प्लांटो को चलाकर सक्रिय रखा जाय तथा सभी अस्पतालों में समुचित व्यवस्थायें करते हुये L1/L2 अस्पतालों के लिये चिन्हित अस्पतालों, स्कुलो, कालेजों में आवश्यकता पड़ने पर सभी व्यवस्थायें मुहैया कराने हेतु तैयारिया रखी जाय ताकि किसी भी विषम परिस्थति से आसानी से सामना किया जा सकें। विधानसभा सामान्य निर्वाचन 2022 के दृष्टिगत उन्होने कहा कि निर्वाचन में लगे सभी अधिकारियों कर्मचारियों को बूस्टर डोज लगवाना सुनिश्चित करें।

उन्होने कहा कि वैक्सीनेशन ही कोरोना से बचाव का प्रमुख उपाय हैं। प्रथम डोज वैक्सीनेशन को शत प्रतिशत तथा द्वितीय डोज के लाभार्थियों को समयानुसार बुलाकर वैक्सीनेशन किया जाय। 15 से 16 वर्ष आयु वर्ग के छात्र-छात्राओ को स्कूल में ही कैम्प लगाकर शत प्रतिशत युवाओ को वैक्सीनेशन सुनिश्चित किया जाय। नोडल अधिकारी ने आवारा पशुओ को पकड़कर आश्रय स्थलों में रखने पर बल देते हुये कहा कि पकड़े गये सभी पशुओ का ईयर टैगिंग का रजिस्टर मेंटेन किया जाय। सभी गोवंश आश्रय स्थलों में गोवंश संरक्षण सभी व्यवस्थायें सुव्यवस्थित ढंग से उपलब्ध रखा जाय। उनके खाने के लिये भूषा पेयजल आवश्यक दवायें आदि सुविधाए उपलब्ध रहें। समय-समय पर सम्बन्धित क्षेत्र प्रभारी पशु चिकित्साधिकारी जानवरों के स्वास्थ का परीक्षण भी करें। नोडल अधिकारी द्वारा कड़ाके की ठंड व शीतलहर के दृष्टिगत रैन बसेरो के बारे में जानकारी ली गयी तथा रोडवेज परिसर में बनाये गये रैन बसेरा का स्थलीय निरीक्षण कर व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी लिया गया तथा वहाॅ पर उपस्थित यात्रियों/व्यक्तियों से वार्ता कर मुहैया सुविधाओं के बारे में जानकारी प्राप्त की।


बैठक में कोविड के सम्बन्ध में जानकारी देते हुये जिलाधिकारी प्रवीण कुमार लक्षकार ने बताया कि जनपद में 18 वर्ष से अधिक आयु पात्र व्यक्तियो को प्रथम डोज 1855058 लक्ष्य के सापेक्ष 1823618 की उपलब्धी प्राप्त की गयी जो 98.31 प्रतिशत हैं। इसी प्रकार द्वितीय डोज 1101804 लोगो वैक्सीनेशन लगाया जा चुका हैं जो 59.39 प्रतिशत हैं। द्वितीय डयू् डोज 3022739 को 20 जनवरी 2022 तक 75 प्रतिशत लक्ष्य पूर्ण कर लिया जायेगा। 15 से 18 वर्ष आयु वर्ग के 175127 किशोरो के सापेक्ष 57483 प्रथम डोज वैक्सीनेशन लगायी जा चुकी हैं। 15 जनवरी 2022 तक स्कूलों में कोविड टीकाकरण का मेगा कैम्प कराकर लक्ष्य के सापेक्ष शत प्रतिशत उपलब्धी प्राप्त करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया हैं। उन्होने बताया कि जनपद में कुल 912 निगरानी समितियाॅ सक्रिय है जिसमें 809 ग्रामीण तथा 103 नगरीय क्षेत्र में है सभी निगरानी समितियों पास औषधि किट उपलब्ध हैं।


 होमआइसोलेशन के मरीजो के स्वास्थ के बारे जानकारी भी जिलाधिकारी द्वारा दी गयी। जिलाधिकारी ने बताया कि कोरोना लक्षण युक्त व्यक्तियो के होमआइसोलेशन में इलाज एवं उनकी निरन्तर मानिटरिंग आई0सी0सी0सी0 के अधिकारियो कर्मचारियों द्वारा की जा रही है वर्तमान में जनपद में कुल 127 मरीज होमआइसोलेशन में हैं। कोरोना मरीज पाये जाने पर तत्काल मेडिसिन किट उपलब्ध कराने की व्यवस्था की गयी है इसके लिये समस्त जीवनरक्षक दवायें पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध हैं। जिला मजिस्ट्रेट ने बताया कि अस्पतालों में कुल 04 आक्सीजन प्लांट संचालित एवं क्रियाशील हैं। जनपद में कुल 516 आक्सीजन कन्सट्रेजर उपलब्ध हैं। मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ राजीव सिंघल ने जानकारी देते हुये बताया कि 44 वेन्टीलेटर, 04 एच0एफ0एन0सी0, 09 बाई0पेप0 उपलब्ध हैं।

कुल 4 L1 चिकित्सालय में आई0सी0यू0 बेड 08, आक्सीजन बेड 112, L2 चिकित्सालय में 50 आक्सीजन बेड एवं 50 आई0सी0सू0 बेड उपलब्ध हैं। इसी प्रकार जनपद में 108 व 102 के 31-31 एम्बुलेंस एवं ए0एल0एस0 के 03 एम्बुलेंस क्रियाशील हैं। वर्तमान में कोविड से किसी मरीज की मृत्यु नही हुयी हैं। उन्होने बताया कि जनपद में प्रतिदिन 1400-1500 आर0टी0पी0सी0आर0 एवं 1400-1500 एन्टीजन टेस्ट किये जा रहें हैं अब तक आर0टी0पी0सी0आर0 के 467278 एवं एन्टीजन के 669014 टेस्ट किये जा चुके हैं। उन्होने बताया कि जिला प्रशासन के सहयोग से पी0ए0 सिस्टम के द्वारा लोगो को जागरूक किया जा रहा हैं। कोविड मरीजो, बुर्जुगों एवं बच्चो को संक्रमण से बचाने हेतु स्वास्थ विभाग एवं अन्य विभाग के सहयोग से जागरूक किया जा रहा हैं। तथा उनके संरक्षण की स्थिति में तत्काल आर0आर0टी0 टीम निगरानी समिति के द्वारा मेडिसिन किट उपलब्ध कराया जा रहा है तथा सतत मानिटरिंग की जा रही हैं।

बैठक में मुख्य विकास अधिकारी श्रीलक्ष्मी वीएस, अपर जिलाधिकारी शिव प्रताप शुक्ल, अपर जिलाधिकारी नमामि गंगे अमरेन्द्र वर्मा, पुलिस अधीक्षक नगर संजय वर्मा, मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ राजीव सिंघल, एस0आई0सी0 पुरूष अस्पताल डाॅ0 आलोक कुमार, महिला अस्पताल डाॅ संजय पाण्डेय, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ नीलेश, जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी कैलाश नाथ, शशिकान्त, अधिशाषी अधिकारी नगर पालिका परिषद ओम प्रकाश, जिला पंचायत राज अधिकारी अरविन्द कुमार, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी, जिला पूर्ति अधिकारी  उमेश कुमार, अपर मुख्य अधिकारी जिला पंचायत नीतू सिंह सिसौदिया के अलावा अन्य सभी सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित रहें।

रिपोर्ट- रवि यादव, जिला संवाददाता
मिर्ज़ापुर ऑफिशियल