शादी के दौरान हुई थी भाजपाई नेता के भाई की मौत, आश्चर्यचकित कर देगा इस केस का ख़ुलासा

बीते दिनों में एक शादी के दौरान भाजपाई नेता के छोटे भाई आशीष जिसकी उम्र महज 25 साल थी। उसकी शादी में अंधाधुंध फायरिंग के दौरान मौत हो गई थी, लेकिन अब इस केस का एक हैरान कर देने वाला खुलासा हुआ।

 
self

ग़लती से नहीं, बल्कि बदले की रंजिश के तहत हुई आशीष की मौत।

मिर्ज़ापुर, Digital Desk: बीते कुछ दिनों पहले कोतवाली क्षेत्र में महंत शिवाला स्थित सूरज लॉन में एक वैवाहिक समारोह के दौरान भाजपा नेता के छोटे भाई की गोली लगने के कारण मृत्यु हो गई थी। भाई को पहले नजदीकी मंडलीय अस्पताल में चिकित्सा के लिए गया गया था, लेकिन वह उचित इलाज ना मिलने के कारण हो से वाराणसी ट्रामा सेंटर में रेफर कर दिया गया था। वाराणसी ट्रामा सेंटर जब तक पहुंचा तब तक उसकी मृत्यु हो चुकी थी।

पैसे को लेकर पुराना विवाद:

पहले लग रहा था की शादी के उत्साह में वहां पर मौजूद बारातियों ने खुशी में हवा में फायरिंग की, जिसके बाद गलती से एक गोली आशीष के पेट में जा लगी और उसकी मृत्यु हो गई। लेकिन ऐसा नहीं था, एक गोली आशीष को फायरिंग के दौरान गलती से नहीं लगी थी, बल्कि इसके पीछे एक पुरानी दुश्मनी थी। दरअसल, फारुख नाम के एक व्यक्ति से इनकी पुरानी रंजिश पैसों को लेकर थी। पैसों की रंजिश किसी के जान का सौदा बन जाएगी, ऐसा किसी ने नहीं सोचा था। पुलिस कस्टडी में लेने के बाद फ़ारुख ने बताया कि पैसे को लेकर इन लोगों के बीच सालों से रंजिश चल रही थी।

दोस्तों के साथ मिलकर बनाया मास्टर-प्लान:

पुलिस का जब फ़ारुख पर दबाव बढ़ा, तो उसने सच उगल दिया। फारुख ने बताया कि पैसे को लेकर उसकी इन लोगों के साथ सालों पुरानी रंजिश थी, जिसके लिए फ़ारुख ने आशीष की जान का सौदा कर दिया। अपने तीन दोस्तों के साथ मिलकर इस घटना को अंजाम दिया, फ़ारुख के साथ दो दोस्त सत्यम सिंह और अमन शाह भी थे। आरोपी ने बताया कि उसने अपने दोस्तों के साथ मिलकर आशीष के पेट में गोली मारी। गिरफ्तारी होने के बाद इन तीनों के पास हत्या करने वाली पिस्टल 32 बोर, दो जिंदा कारतूस और ₹630 मौजूदा स्थिति में बरामद हुए। इस विवाह समारोह में आशीष और उसके बड़े भाई यानी कि भाजपा नेता भी शामिल थे। तभी इस शादी में रामबाग का निवासी मोहम्मद फारुख भी शामिल हुआ और पुरानी रंजिश के कारण उसने अपनी लाइसेंस पिस्टल से भाजपा नेता के छोटे भाई आशीष गुप्ता के पेट में गोली मार दी। आशीष की हत्या फ़ारुख ने की है, इस बात की सूचना आशीष के मित्र देवेश गुप्ता ने उसके बड़े भाई आकाश गुप्ता को बताई।

पुलिस ने जारी किया स्टेटमेंट:

पुलिस ने बताया कि लिखित दस्तावेज के आधार पर आरोपियों पर 198/21 आईपीसी की धारा सेक्शन 302 के तहत इनके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। इसके साथ पुलिस ने यह भी बताया कि यह हत्या किसी पुरानी रंजिश के चलते हुई है। फारुख ने अपने दो दोस्तों के साथ लेकर घटना को अंजाम दिया है, जिसके लिए उसने गन का इस्तेमाल किया और आशीष के पेट में गोली मार दे। फिलहाल पुलिस ने इन तीनों को गिरफ्तार कर लिया है।

1