गंगा संरक्षण के प्रति जन जागरूकता के लिए पक्का घाट पर सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन

कलाकारों ने शहनाई वादन, गंगा कजरी एवं गंगा गीत गाकर दर्शको को किया मंत्रमुग्ध  
 
घाट
वर्तमान सरकार 2100 करोड़ की भारी राशि गंगा की सफाई के नाम पर आवंटित करती है

मिर्ज़ापुर: जिला गंगा समिति के तत्वाधान में आज़ादी का अमृत महोत्सव के अन्तर्गत गंगा संरक्षण के प्रति जन जागरूकता के लिए आज मिर्ज़ापुर के पक्का घाट पर सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की शुरुआत गंगा आरती से हुई। कार्यक्रम में कई कलाकारों ने शहनाई वादन, गंगा कजरी एवं गंगा गीत गाकर दर्शको को मंत्रमुग्ध कर दिया। 

इस कार्यक्रम में क्षेत्रीय वन अधिकारी सहित वन प्रभाग के कई स्टाफ और अन्य स्थानीय लोग मौजूद रहे। साथ ही सांस्कृतिक कार्यक्रम में चारु चंद्र उपाध्याय, प्रवक्ता एवं समाजसेवी गंगा प्रहरी ने बढ़- चढ़ कर भाग लिया।  

बता दें कि गंगा नदी में आए दिन हो रहे गंदगी को देखते हुए भारत सरकार की तरफ से नदीओं की साफ- सफाई और उन्हें स्वच्छ रखने के लिए कई योजनाएं भी चलाई गई है। गंगा के किनारे बसे शहरों का कचरा, जल-मल व जहरीला गंदा पानी गंगा में जाकर मिल जाता है और गंगा नही को दुषित भी करता है। 

गंगा नदी को ऐसे प्रभाव से नष्ट होने से बचाने के लिए और गंगा की सफाई के लिए सरकारी योजनाओं में अब तक अरबों रुपए खर्च हुए हैं। इतना ही नहीं वर्तमान सरकार ने भी 2100 करोड़ की भारी राशि गंगा की सफाई के नाम पर बजट में आवंटित की है। लेकिन इससे गंगा न स्वच्छ हुई है ना होगी जब तक देश के लोग खुद गंगा को स्वच्छ रखने की ना ठान लें। इसके लिए जनजागरूकता एक माध्यम है जिससे जनता को गंगा संरक्षण किया जा सकता है। 

रिपोर्ट- रवि यादव, जिला संवाददाता
मिर्ज़ापुर ऑफिशियल