मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के अंतर्गत प्राप्त पत्रवालियो का डीएम ने की समीक्षा

जिला प्रोबेशन कार्यालय में प्राप्त आवेदन पत्रों को जिला टास्क फोर्स समिति की बैठक कर जिलाधिकारी प्रवीण कुमार लक्षकार द्वारा आवेदन पत्रों की समीक्षा की

 
जिला टास्क फोर्स समिति की बैठक कर जिलाधिकारी प्रवीण कुमार लक्षकार द्वारा आवेदन पत्रों की समीक्षा की

19 आवेदन पत्र कोविड बीमारी एवं 26 आवेदन पत्र नान कोविड से मृत अभिभावको के परिजनों द्वारा उनके अनाथ बच्चों के पालन पोषण हेतु आवेदन पत्र प्राप्त हुए

मिर्जापुर: कोरोना वायरस संक्रमण के कारण हुई मृत्यु से अनाथ बच्चों के जीवन यापन करने एवं आर्थिक सहायता उपलब्ध कराने के उद्देश्य से जिला प्रोबेशन कार्यालय में प्राप्त आवेदन पत्रों को जिला टास्क फोर्स समिति की बैठक का जिलाधिकारी प्रवीण कुमार लक्षकार द्वारा आवेदन पत्रों की समीक्षा की गई। बैठक में 19 आवेदन पत्र कोविड बीमारी एवं 26 आवेदन पत्र नान कोविड से मृत अभिभावको के परिजनों द्वारा उनके अनाथ बच्चों के पालन पोषण हेतु आवेदन पत्र प्राप्त हुए थे।

समिति के विचारोंपरान्त जिलाधिकारी ने कहा कि सभी पत्र प्राप्त आवेदन पत्रों की एक बार सत्यापन करा लिया जाए तदुपरांत अगली बैठक सत्यापन रिपोर्ट के साथ पत्रवालिया प्रस्तुत की जाय ताकि पूरी पारदर्शिता के साथ योजना का लाभ संबंधित को दिया जा सके इस अवसर पर जिला प्रोबेशन अधिकारी शक्ति त्रिपाठी ने बताया कि योजना के उद्देश्य अनाथ बच्चों को आर्थिक सहायता प्रदान की जा सके जिससे वह अपना भरण पोषण आसानी से कर सकें एवं उन्हें किसी प्रकार की कठिनाइयों का सामना न करना पड़े। बैठक में बाल एवं संरक्षण अधिकारी रमेश कुमार जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी के अलावा अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

रिपोर्ट- रवि यादव, जिला संवाददाता
मिर्ज़ापुर ऑफिशियल