पूर्व मड़िहान विधायक ललितेशपति त्रिपाठी थाम सकतें हैं ममता बनर्जी की पार्टी TMC का दामन

उत्तर प्रदेश कांग्रेस को "बाय-बाय" कहने के बाद ललितेशपति त्रिपाठी (Laliteshpati Tripathi) TMC में शामिल हो सकते हैं
 
laliteshpati tripathi news
ललितेशपति कांग्रेस के दिग्गज नेता और यूपी के मुख्यमंत्री रहे कमलापति त्रिपाठी के परपोते हैं
 


मिर्ज़ापुर: उत्तर प्रदेश कांग्रेस (Congress) के पूर्व उपाध्यक्ष व मिर्ज़ापुर के मड़िहान सीट से विधायक रह चुके ललितेशपति त्रिपाठी (Laliteshpati Tripathi) जल्द ही तृणमूल कांग्रेस (TMC) का दामन थाम सकते हैं।

इस फैसले के पीछे चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर उर्फ़ PK को मास्टरमाइंड बताया जा रहा है।

उत्तर प्रदेश में कांग्रेस व गाँधी परिवार के बेहद करीबी होने के साथ खाटी कॉंग्रेसी ललितेशपति त्रिपाठी (Laliteshpati Tripathi) ने जब कॉंग्रेस से नाता तोड़ा तो सनसनी सी फैल गयी थी लेकिन अब पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की पार्टी (mamta banerjee party) TMC का दामन थामने की खबरें आ रहीं हैं।

सूत्रों की माने तो अगले हफ़्ते 20 अक्टूबर 2021 के आसपास उनके TMC में शामिल होने की संभावना जताई जा रही है। और बात करें TMC की तो उन्होंने ललितेशपति त्रिपाठी के संपर्क में रहने की पुष्टि की है। 

वहीं बात करें ललितेशपति त्रिपाठी के समर्थकों की तो वे चाहते हैं कि ललितेश समाजवादी पार्टी में शामिल हों, लेकिन ये शायद ये एक अधूरी चाहत ही बन कर रह जाने वाली है।

गौरतलब है कि वेस्ट बंगाल विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी ने TMC को समर्थन दिया था, इसलिए वो उम्मीद लगाई जा सकती है कि यूपी विधानसभा चुनाव में TMC पार्टी को समर्थन दे।

सूबे में चुनावी बयार चल रही है इस समय पार्टियां चुनाव के पहले जातीय समीकरण के लिए ब्राह्मणों को अपने पाले में लाने की कोशिश कर रही हैं, ऐसे में उनका कांग्रेस छोड़कर जाना पार्टी के लिए बड़ा झटका माना जा रहा था।

ललितेशपति त्रिपाठी उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रह चुके कमलापति त्रिपाठी के परपोते हैं, गांधी नेहरू परिवार से चार पीढ़ियों का अटूट माने जाने वाला रिश्ता रहा है।
 

रिपोर्ट- रवि यादव, जिला संवाददाता
मिर्ज़ापुर ऑफिशियल