2022 तक पूरी करनी है पर योजना और अब तक 90% कार्य बाकी

ऊर्जा राज्य मंत्री ने पकड़ी शासन को भेजी हुई रिपोर्ट में गड़बड़ी दी मुख्यमंत्री के समक्ष शिकायत की चेतावनी
 
rama shanakar patel mla
शासन को झूठी रिपोर्ट भेजने पर भड़के मंत्री

मिर्ज़ापुर,मड़िहान : जिले में जल जीवन मिशन के अंतर्गत चल रहे निर्माण कार्यों के रिपोर्ट में हेराफेरी का मामले सामने आया है । मंत्री रमाशंकर पटेल ने निरीक्षण में पाया कि शासन को भेजे गए रिपोर्ट और ग्राउंड पर कार्य में काफी अंतर है, जिस पर उन्होंने कड़ी नाराजगी जताई है। गौरतलब हो कि कार्यदाई संस्था और अधिकारीयों ने शासन को 30% कार्य पूर्ण होने की रिपोर्ट भेज दी है जबकि ओवरहेड टैंक और इंटेक वेल सहित पाइप लाइन का कार्य भी कच्छप गति से हो रहा है।
 

मंत्री रमाशंकर पटेल ने कुहकी और पनीहरा गांव के बीच ब्लास्टिंग करके कार्य करने पर कड़ी नाराजगी जताई है और कार्यदाई संस्था के प्रोजेक्ट मैनेजर को ग्रामीणों को क्षतिपूर्ति देने का निर्देश दिया है। पिउरी में निर्मित 550 किलोलीटर के ओवर हेड टैंक के निर्माण में धीमी प्रगति पर और सिरसी में निर्माणाधीन इनटेकवेल के खुदाई कार्य धीमी गति से होने पर नाराजगी जाहिर की है।

नोडल अधिकारी एडीएम अमरेंद्र कुमार वर्मा पर भी शासन को झूठी रिपोर्ट देने के लिए रोष प्रकट किया। निरीक्षण के दौरान लालगंज- कलवारी मार्ग पर सड़क के बगल से पाइप बिछाने का सुझाव दिया है ताकि सड़क खराब ना हो साथ ही धीमी चल रही है योजना पर आला अधिकारियों को फटकार लगाते हुए उन्होंने कहा कि वह शासन को भेजे गए रिपोर्ट की शिकायत मुख्यमंत्री के समक्ष करेंगे।

ज्ञात हो कि 1700 करोड़ रुपए की परियोजना जल शक्ति मंत्री ने 2022 तक पूर्ण हो जाने का आश्वासन दिया था पर अब तक योजना का केवल 10% ही पूरा हो सका है।निरीक्षण के दौरान मंत्री रमाशंकर पटेल ने कार्य के दौरान क्षतिग्रस्त हुई नाली, पुलिया, सड़क को सुधारवाने का निर्देश कार्यदाई संस्था जीवीपीआर इंजिनियर्स लिमिटेड के परियोजना प्रबंधक को दिया है|