मिर्ज़ापुर के केबी और बिनानी पीजी कॉलेज में छात्र-छात्राओं को साइबर अपराध के प्रति किया गया जागरूक

  साइबर अपराध तकनीकी प्रगति का परिणाम है-  आशुतोष कुमार तिवारी
 
मिशन शक्ति
साइबर अपराधों पर नियंत्रण रखने के लिए लोगों को स्वयं जागरूक होना होगा- डा. राजीव अग्रवाल

मिर्ज़ापुर: राज्य सरकार के निर्देश पर महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए  मिशन शक्ति का आयोजन किया जा रहा है। इतना ही नही इस कार्यक्रम के तहत महिला सशक्तिकरण, बाल संरक्षण व आत्मरक्षा के लिए बालिकाओं, महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए सरकार द्वारा चलाए जा रहे योजनाओं से छात्र-छात्राओं को अवगत कराया जा रहा है साथ ही साइबर चुनौतियों के प्रति भी सचेत रहने की ट्रेनिंग दी जा रही है।

इसी क्रम में जनपद मिर्ज़ापुर में मिशन शक्ति फेज 3 अभियान का आयोजन शनिवार को कई विद्यालयों में किया गया। 

केबी कालेज में चल रहे इस कार्यक्रम के दौरान बीइओ नगर आशुतोष कुमार तिवारी ने कहा कि साइबर अपराध तकनीकी प्रगति का परिणाम है। इस खतरनाक अपराध को इंटरनेट और कंप्यूटर के माध्यम से अंजाम दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि पहले तो साइबर क्राइम कोई समझ नही पाता था लेकिन आज के समय में बेहतर तकनीकी का परिणाम है कि साईबर क्राइम करने वाले भी पुलिस की गिरफ्त से दूर नही है। साइबर क्राइम के तहत डेटा और जानकारी का अवैध हस्तांतरण किया जाता है, जो किसी व्यक्ति या समूह के लिए गोपनीय और बहुमूल्य हो सकता है। इस मौके पर प्रभारी निरीक्षक कटरा स्वामी प्रसाद ने छात्र-छात्रों को साइबर अपराध के बारे में विस्तृत जानकारी दी। 

लालडिग्गी चौकी प्रभारी संतोष कुमार सिंह ने कहा कि साइबर अपराध एक ऐसा आपराधिक कृत्य है जो अच्छे- अच्छों को अपने चपेट में लेता है इसलिए बेहतर के इंटलनेट या सोशल मीडिया से संबधित कोई भी काम करने से पहले उसकी गहन जांच करें। इस मौके पर डा. मकरंद जायसवाल, डा. अशोक कुमार सिंह चंदेल, वीर भानु प्रताप सिंह, डा. आशुतोष द्विवेदी, डा. रत्नेश मिश्र, डा. नम्रता मिश्रा, डा. राम दास, डा. राजेश कुमार सिंह यादव, डा. सतीशचंद्र वर्मा, डा.सुनील कुमार मौजूद रहे। कार्यक्रम का संचालन डा. ऋचा शुक्ला ने किया। 

मिशन शक्ति फेज 3 कार्यक्रम का आयोजन भरुहना स्थित जीडी बिनानी पीजी कालेज में भी किया गया। यहां अशोक कुमार मिश्रा  मुख्य अतिथि के रूप में शामिल रहे। कार्यक्रम में महिला हेल्पलाइन, साइबर क्राइम, पाक्सो एक्ट, लैंगिक हिसा, बाल विवाह, कन्या भ्रूण आदि विषय पर छात्र-छात्राओं को अवगत कराया गया।

प्राचार्य डा. राजीव अग्रवाल ने कार्यक्रम की अध्यक्षता की। इस मौके पर उन्होंने कहा कि साइबर अपराधों पर नियंत्रण रखने के लिए लोगों को स्वयं जागरूक होना होगा। भरुहना चौकी प्रभारी विनोद कुमार यादव ने कहा कि ऑनलाइन लेनदेन करते समय सावधानी बरतें। बैंक द्वारा बताए जा रहे सभी दिशा निर्देश का पालन करें। अपने किसी नीजि दस्तावेज की जानकारी किसी भी बाहरी व्यक्ति को ना दे। 
कार्यक्रम का संचालक डा. रेखा पाठक व संयोजक डा. आत्रेय आद्या चटर्जी एवं जय प्रकाश सिंह ने किया। डा. राजमोहन शर्मा, वसीम अकरम अंसारी, आशुतोष सिंह, अखिलेश कुमार पटेल आदि रहे।

रिपोर्ट- रवि यादव,  जिला संवाददाता
मिर्ज़ापुर ऑफिशियल