ठंड के बढ़ते प्रकोप में जिलाधिकारी ने दिया अपनत्व की गरमाहट

03 अस्थायी रैन बसेरा एवं अलाव की हकीकत जानने जिलाधिकारी ने किया रात्रि में औचक निरीक्षण
 
mirzapur dm
अस्थायी रैन बसेरा में ठहरे यात्रियो से जिलाधिकारी ने मूलभूत सुविधाआंे के बारे में ली जानकारी


मिर्ज़ापुर: जिलाधिकारी प्रवीण कुमार लक्षकार ने अपर जिलाधिकारी शिव प्रताप शुक्ल एवं जिला सूचना अधिकारी डाॅ0 पंकज कुमार के साथ अस्थायी रैन बसेरा एवं अलाव की हकीकत जानने के लिये देर रात क्रमशः राजकीय रोडवेज परिसर मिर्ज़ापुर, नगर पालिका घण्टाघर एवं सगरा कंतिंत बस स्टैण्ड विन्ध्याचल का औचक निरीक्षण किया। ठंढ के बढ़ते प्रकोप में इंसानियत एवं मानवीय सरोकारों के रक्षक के रूप में जिलाधिकारी ने अपनत्व की गरमाहट पेश की।

राजकीय रोडवेज परिसर में 40 मुसाफिरो/यात्रियो की क्षमता वाले अस्थायी रैन बसेरा में मौके पर 11 लोग आराम करते हुये मिले। जिलाधिकारी ने मौके पर ध्रुव नारायण कर्मचारी से उपस्थित पंजिका मंगवाकर चेक किया। उन्होने घोरावल, सोनभद्र निवासी अशोक एवं संजय कुमार यादव से आत्मीय भाव से हाल चाल जाना। उन्होने बताया कि वे सब भोर में महाराष्ट्र जाने वाली ट्रेन की प्रतीक्षा में रूके हैं। इसी क्रम में जिलाधिकारी ने छत्तीसगढ़ जाने के लिये बस की प्रतीक्षारत शंकर लाल से रैन बसेरा की सुविधाओ के बारे में जानकारी लिया। मुसाफिरो द्वारा रैन बसेरा की साफ-सफाई एवं व्यवस्था को सराहा गया। बहुत ही सकारात्मक एवं स्वस्थ महौल में केयर टेकर ने उपस्थिति पंजिका पर अपर जिलाधिकारी से चंेकिग हस्ताक्षर करने का अनुरोध किया। जिलाधिकारी ने बाहर अलाव ताप रहे मुसाफिरो से आनन्द भाव से उनका हाल चाल पूछा।

तत्पश्चात नगर पालिका, घण्टाघर अस्थायी रैन बसेरा के निरीक्षण में मात्र 04 बेड की व्यवस्था पर जिलाधिकारी के निर्देश पर अपर जिलाधिकारी ने अधिशाषी अधिकारी को फोन पर पास के बड़े हाल में सुविधाओ के साथ बेड की संख्या बढ़ाने का निर्देश दिया। मौके पर आराम कर रहे 02 व्यक्तियो ने बताया कि वे नगर क्षेत्र के ही निवासी है तथा ठंड से बचाव के दृष्टिगत वे यहाॅ पर सोने आये है। तदुपरान्त जिलाधिकारी ने सगरा कंतित बस स्टैण्ड विन्ध्याचल अस्थायी रैन बसेरा का निरीक्षण किया। 25 बेड की क्षमताओं वाले इस रैन बसेरा में मौके पर कोई भी मुसाफिर नही था। हाल में 02 खिड़िकियो के शीशे टूटे हुये तथा 08 रोशनदान खुला पाया गया। हाल में पीने के पानी की कोई व्यवस्था न होने तथा रजाई की गुणवत्ता हल्की होने पर जिलाधिकारी ने कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुये अधिशाषी अधिकारी को व्यवस्था दुरूस्त करने का निर्देश दिया।

निरीक्षण के क्रम में जिलाधिकारी ने आवास लौटते समय बरौधा कचार तिराहे पर एक बुर्जुग रोड पर निरीह अवस्था में दिखने पर जिलाधिकारी ने गाड़ी रोकर उसका हाल चाल जाना तथा उसे पुलिस चैकी पर मौजूद सिपाहियो से घर पहुॅचाया। जिलाधिकारी ने ठंड के बढ़ते प्रकोप के दृष्टिगत कहा कि जनपद में कोई भी खुले में नही सोयेगा। ठंड से बचाव के लिये मुसाफिर पास के अलाव एवं अस्थायी रैन बसेरा में प्रवास करें। उन्होने जनपद के सभी अधिशाषी अधिकारी को निर्देश किया वे अपने-अपने क्षेत्रो में अलाव एवं रैन बसेरा की समुचित व्यवस्था करना सुनिश्चित करे इस संदर्भ में कोई भी अव्यवस्था व लापरवाही क्षम्य नही होगी।

रिपोर्ट- रवि यादव, जिला संवाददाता
मिर्ज़ापुर ऑफिशियल