मिर्ज़ापुर: प्रियंका पांडे के बाद अब चिन्मयानंद बापू की भी चुनाव में उतरने की तैयारी?, कर दी यह बड़ी बात

चिन्मयानंद बापू द्वारा एक पत्रकार वार्ता के दौरान उन्होंने बताया कि वह भी मिर्ज़ापुर से चुनाव लड़ने के लिए इच्छुक हैं, हालांकि और कोई सीट मिलेगी तो वह चुनाव नहीं लड़ेंगे।

 
image : patrika
पत्नी प्रियंका पांडे हाल ही में हुए बीजेपी में शामिल।

मिर्ज़ापुर, Digital Desk: मिर्ज़ापुर की राजनीति अब एक अलग मोड पर आ रही है। क्योंकि खास बात यह है कि, सीट एक से ही है और दिन प्रतिदिन दावेदार बढ़ते जा रहे हैं। मिर्ज़ापुर से विधायक एवं वाणिज्य मंत्री अनुप्रिया पटेल हैं। उम्मीद है कि, अगले चुनाव में कड़ा प्रयास करेंगी और जीतेंगे भी। अब उनकी सीट पर कंपटीशन बढ़ता जा रहा है, कुछ दिन पहले चिन्मयानंद बापू की पत्नी प्रियंका पांडे ने कहा कि अगर मौका मिलेगा तो मिर्ज़ापुर से चुनाव लड़ने के लिए तैयार है। ऐसे में अब पति चिन्मयानंद बापू ने कहा कि अगर मौका मिलेगा तो मिर्ज़ापुर से चुनाव लड़ेंगे ऐसे में मिर्ज़ापुर विधानसभा सीट की दावेदारी बढ़ती जा रही है, हर कोई इस सीट से चुनाव लड़कर अपना वर्चस्व कायम करना चाहता है।

चिन्मयानंद बाबू पत्रकार वार्ता के दौरान:

मिर्ज़ापुर में पत्रकार वार्ता के दौरान चिन्मयानंद बापू ने कहा 2014 में जब गठबंधन की सरकार आई थी, तो किसी बहुत बड़े नेता ने जिनका वह नाम नहीं लेना चाहेंगे, वह आज एक अच्छे पद पर स्थापित है। उन्होंने उनसे चुनाव लड़ने की अपील की थी, लेकिन मिर्ज़ापुर की जगह भदोही की टिकट मिल रही थी। ऐसे में उन्होंने कहा कि, मेरी जन्मभूमि मिर्ज़ापुर है और मुझे लगता है कि मैं अगर यहां से चुनाव लड़ा तो यहां के लोगों के लिए कुछ कर पाऊंगा, क्योंकि यहां के लोगों के से बहुत प्यार करता हूँ। चिन्मयानंद बापू ने बताया कि, अगर मिर्ज़ापुर से चुनाव लड़ने का मौका मिलेगा, तो ही वह चुनाव में उतरेंगे अन्यथा वे चुनाव नहीं लड़ेंगे।

यह भी पढ़ें: बीजेपी में शामिल होने के बाद मिर्ज़ापुर माता विंध्याचल के धाम पहुंची प्रियंका पांडे, कह डाली यह बड़ी बात

पत्नी प्रियंका बीजेपी में शामिल:

चिन्मयानंद बापू के इस स्टेटमेंट ने सबको हैरान कर दिया है। खास बात यह है कि अभी कुछ ही दिन पहले चिन्मयानंद बापू की पत्नी ने बीजेपी का दामन थामा है। ऐसे में पत्रकार वार्ता के दौरान प्रियंका पांडे ने भी यही बात कही थी कि, अगर चुनाव लड़ने का मौका मिलेगा तो वह जरूर चुनाव लड़ेंगी। चुनावी प्रतिपक्ष से खुद को पुनः स्थापित करने का पति पत्नी के लिए एक अच्छा मौका हो सकता है।  भारतीय जनता पार्टी देश की सबसे बड़ी पार्टी है और इस पार्टी से चुनाव लड़ने का मौका मिल जाए, तो यह एक बहुत बड़ी बात होगी। फिलहाल अभी योगी आदित्यनाथ के पत्ते खुलने बाकी हैं और बाद में पता चलेगा कि किस सीट से कौन व्यक्ति चुनाव के मैदान में उतरेगा।