मिर्ज़ापुर के Dr. Sanjiv Kumar Patel का हुआ Stanford University में Selection

मिर्ज़ापुर गौरी गांव के निवासी जैव वैज्ञानिक डॉक्टर संजीव कुमार पटेल का चयन स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय में हुआ है। जो किसी बड़ी अचीवमेंट से कम नहीं।

 
image source : jagran

Stanford University की Ranking में हुआ चयन।

मिर्ज़ापुर, Digital Desk: मिर्ज़ापुर के गौरी गांव के निवासी जैव वैज्ञानिक डॉ संजीव कुमार पटेल का चयन स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय में हुआ। 20 अक्टूबर को इस विश्वविद्यालय द्वारा नोटिस जारी की गई, जिसमें डॉ संजीव कुमार पटेल का नाम है।

वर्तमान में डॉक्टर संजीव कुमार पटेल सियोल दक्षिण कोरिया के कोंकूक विश्वविद्यालय में असिस्टेंट प्रोफेसर का पद संभाल रहे हैं। स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी विश्वविद्यालय में चयनित होना एक बहुत बड़ी उपलब्धि है। स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी द्वारा बनाई गई एक डेटाबेस के अनुसार दुनिया के शीर्ष वैज्ञानिकों का शोध प्रकाशन एवं इंटेक्स लेखक एवं समग्र संकेतक के आधार पर एक लिस्ट बनाई गई, जिसमें डॉ संजीव कुमार पटेल का नाम भी शामिल है।

मिर्ज़ापुर से विदेश तक का सफ़र -

डॉक्टर संजीव कुमार मिर्ज़ापुर गौरी गांव के निवासी एवं फिलहाल दक्षिण कोरिया में असिस्टेंट प्रोफेसर के तौर पर काम कर रहे हैं। संजीव मिर्ज़ापुर से दिल्ली पढ़ाई करने के लिए गए थे, जहां पर उनका दक्षिण कोरिया के इस विश्वविद्यालय में असिस्टेंट प्रोफेसर के तौर पर चयन हो गया। संजीव कुमार पटेल का इतनी बड़ी यूनिवर्सिटी(stanford university) में चयन हो जाना वह भी गिने-चुने साइंटिस्ट लोगों में होना, एक होना यह एक बहुत बड़ी उपलब्धि है। सबसे बड़ी बात यह है कि गांव से शहर पलायम करना, फिर शहर से विदेश पलायन करना, एक बहुत बड़ी बात होती है। संजीव कुमार पटेल में काबिलियत भरपूर है, इस बात में कोई शक नहीं। क्योंकि उनकी अचीवमेंट यह बताती है कि वह कितने महान वैज्ञानिक है।

डॉक्टर संजीव कुमार पटेल ने जिनोमिकी और समवेत जीवविज्ञान संस्थान नई दिल्ली से 2011 में पीएचडी की थी। अभी तक में उनके नाम 89 शोध पत्र प्रकाशित हो चुके हैं एवं 18 अंतरराष्ट्रीय पेटेंट पंजीकृत हो चुके हैं। दिवाली की छुट्टी मनाने संजीव अपने गांव मिर्ज़ापुर आए हुए थे। जहां उन्हें इस बात की खबर लगी, संजीव अपनी पत्नी एवं बच्चों के साथ में गांव आए हुए थे एवं माता-पिता द्वारा मिठाई खिलाकर उनका इस खबर पर सम्मान किया गया।

image source : jagran