मिर्ज़ापुर अदालत ने दिया कन्नौज के पुलिस अधीक्षक को गिरफ्तार करने का आदेश, वारंट जारी होने के बाद भी नहीं हुए हाज़िर

मिर्ज़ापुर जिला अदालत के न्यायाधीश वायुनंदन मिश्र ने उत्तर प्रदेश पुलिस को आदेश दिया कि वे जल्द से जल्द कन्नौज में पुलिस अधीक्षक दीपक दुबे को गिरफ्तार कर उनके सामने पेश करें।

 
image source : mirzapuronline.in


2010 के एक मामले में दीपक दुबे को न्यायालय के सामने पेश होना था, लेकिन अभी तक पेश नहीं हुए।

मिर्ज़ापुर, Digital Desk: अहरौरा थाने के तत्कालीन थानाध्यक्ष एवं वर्तमान में कन्नौज में सीओ की पोस्ट पर काबिज दीपक दुबे को न्यायालय के न्यायाधीश वायुनंदन मिश्रा ने गिरफ्तार करके पेश होने का आदेश दिया है एवं  उनकी तनख्वाह से ₹100 अर्थदंड की राशि न्यायालय में जमा कराने का आदेश दिया है।

क्या है पूरा मामला?

यह मामला लगभग 11 साल पुराना है। सन 2010 में हत्या कर शव को छुपाने का एक मुकदमा दर्ज किया गया था, जिसकी विवेचना तत्कालीन थाना अध्यक्ष दीपक दुबे कर रहे थे। दीपक दुबे इस समय कन्नौज में सीओ का पद संभाल रहे है। दीपक दुबे के साक्ष्य के लिए जून 2017 से कार्यवाही लंबित है, उन्हें 42 बार वारंट एवं नोटिस जारी करके बुलाया जा चुका है। लेकिन 2017 से 2019 तक लखनऊ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक द्वारा सात बार जिला न्यायालय को पत्र लिखकर कानून व्यवस्था एवं संवेदनशील ड्यूटी में व्यस्तता बताकर उपस्थित न होने का कारण दिया जा चुका है।

मामला बस इतना सा है कि दीपक दुबे को मुकदमे में साक्ष्य पेश करने के लिए कोर्ट द्वारा आदेश दिया गया था। जिसके लिए उन्हें हाजिर होना था, लेकिन वह एक बार भी उपस्थित नहीं हुए।

अब हो सकती है कड़ी कार्यवाही -

न्यायाधीश वायुनंदन मिश्र ने दीपक दुबे को 12 नवंबर को अदालत में पेश होने का ऐलान किया है, इसके बाद उन्हें गिरफ्तार करके 12 नवंबर को कोर्ट में पेश किया जाएगा। साथ ही साथ अदालत ने यह भी कहा कि अगर दीपक उपस्थित नहीं हुए, तो इसे अदालत की अवमानना मानते हुए मामले को माननीय उच्च न्यायालय में प्रेषित कर दिया जाएगा।

माननीय न्यायालय ने कन्नौज के कोषाधिकारी को दीपक दुबे के वेतन से ₹100 कटौती करने का पत्र दिया जा चुका है। इसके बाद साक्षी दीपक दुबे पर पुनः गैर जमानती नोटिस जारी कर पुलिस महानिर्देशक को व्यक्तिगत रुचि लेकर दीपक दुबे को गिरफ्तार कर न्यायालय के समक्ष पेश करने का आदेश दिया जा चुका है।

image source : mirzapuronline.in