मिर्ज़ापुर: एक बार फिर चर्चा में ऊर्जा राज्य मंत्री रमाशंकर सिंह पटेल, मंच में नहीं मिला उचित स्थान तो कार्यक्रम छोड़ कर चले गए

मिर्ज़ापुर के राजगढ़ में एक कार्यक्रम के दौरान ऊर्जा राज्यमंत्री रमाशंकर सिंह पटेल नाराज हो गए और कार्यक्रम छोड़कर तुरंत वहां से चले गए।

 
image source : twitter
कुर्सी नहीं मिली तो दूसरे कार्यक्रम में चले गए रमाशंकर सिंह पटेल।


मिर्ज़ापुर, Digital Desk: उत्तर प्रदेश के मंत्री यानी ऊर्जा राज्यमंत्री रमाशंकर सिंह पटेल आए दिन किसी न किसी बात को लेकर चर्चा का विषय बने रहते हैं। ऐसा ही कुछ रविवार के दिन भी हुआ मिर्ज़ापुर के राजगढ़ में रविवार को मंडल स्तरीय पशु आरोग्य मेले में मुख्य अतिथि के तौर पर आमंत्रित किया गया था। ऐसे में वह थोड़ा देर से आए क्योंकि उनकी कुर्सी पर कोई और बैठा हुआ था, जिस पर उन्होंने अपनी नाराजगी दिखाई और कार्यक्रम छोड़कर तुरंत वहां से चले गए और दूसरे कार्यक्रम में जाकर शरीख हो गए।

कमिश्नर ने समझाया:

मंच पर जब उर्जा राज्यमंत्री पहुंचे तो देखा कि पशु विभाग के अधिकारियों के बुलावे पर गांव पूजा कराने वाले एक व्यक्ति पहले से ही उनकी कुर्सी पर बैठे हुए थे, जिस पर उन्हें नाराजगी हुई। दरअसल, ऊर्जा राज्य मंत्री रमाशंकर सिंह पटेल जब मंच पर पहुंचे तो सभी गणमान्य एवं अधिकारी खड़े हुए, लेकिन वह व्यक्ति कुर्सी से चिपका रहा जिसपर ऊर्जा राज्यमंत्री को लगा कि प्रोटोकॉल का उल्लंघन है। बेहद नाराज हुए और ऊर्जा राज्यमंत्री तत्काल मंच से नीचे उतर गए और दूसरे कार्यक्रम के लिए चले गए। कमिश्नर साहब ने ऊर्जा मंत्री को मनाने का प्रयास किया और बहुत समझाने की कोशिश की लेकिन वे नहीं माने और कार्यक्रम छोड़कर तुरंत वहां से निकल गए।

आए दिन चर्चा का विषय:

देखा जाए तो आए दिन ऊर्जा राज्य मंत्री जी चर्चा का विषय बने रहते हैं एवं छोटी सी बात पर भी तत्काल प्रभाव से शिकायत के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का दरवाजा खटखटा देते हैं। ऐसे में अब योगी आदित्यनाथ की तरफ से भी उन्हें खासा रिस्पांस नहीं मिल रहा है। इसके पहले भी कई ऐसी घटनाएं हुई हैं, जिसपर ऊर्जा राज्य मंत्री जी चर्चा का विषय बने रहे।
 

इस कार्यक्रम को छोड़कर वह राज्य मंत्री जी दूसरे कार्यक्रमों के लिए रवाना हो गए जहां पर वे अतिथि के तौर पर उपस्थित हुए। दूसरे कार्यक्रम मंत्री जी तो जनता की भीड़ में ही पहुंच गए और वहां उस कार्यक्रम में उपस्थित हुए अपने ही क्षेत्र में सम्मान न पाने की वजह से मंत्र से काफी नाराज हुए और पहले वाले कार्यक्रम को भी इसी वजह से छोड़कर दूसरे कार्यक्रम में चले गए।