9 साल की मासूम का रेप और हत्या करने वाले दरिंदो के ख़िलाफ़ मिर्ज़ापुर के दुकानदारों की मुहिम, 15 मिनट दुकान बंदकर दी बच्ची को श्रद्धांजलि

हाल ही में मिर्ज़ापुर की एक 9 साल की बच्ची के साथ दो लोगों ने दुष्कर्म किया और बाद में उसकी हत्या कर दी। इस मामले ने पूरे मिर्ज़ापुर को हिला कर रख दिया। ऐसे मिर्ज़ापुर में अधिकांश दुकानदारों ने बच्ची को श्रद्धांजलि अर्पित की।

 
image : one india

दुकानदारों ने कैंडिल जुलूस निकालकर बच्ची को दी श्रद्धांजलि।

मिर्ज़ापुर, Digital Desk: आप सबने हाल ही में एक खबर सुनी होगी। जिसमें एक बालिका खेलते-खेलते लापता हो गई और बाद में दो लोगों ने उसके साथ दरिंदगी की और बाद में उसकी हत्या कर दी और अगले दिन सुबह उसकी लाश मिली। मिर्जापुर में कटरा कोतवाली क्षेत्र की एक 9 वर्षीय बालिका के साथ दो व्यक्ति में दरिंदगी की और उसके बाद रविवार रात को उसकी हत्या कर दी थी। बालिका का शव उसके घर के पास से ही मिला और पुलिस ने परिजनों की तहरीर पर दुष्कर्म के बाद हत्या का मुकदमा दर्ज करके जांच शुरू कर दी थी। पुलिस ने उन दो आरोपियों को हिरासत में लिया जिसके बाद मिर्ज़ापुर में आरोपियों के खिलाफ गजब का जन आक्रोश देखने को मिला।

सार:

परिजनों ने बताया कि बालिका घर के पास गली में बच्चों के साथ खेल रही थी। लगभग शाम को जब माँ उसे वापस लेने आई, तो वह वहां नहीं मिली। आसपास भी देखा लेकिन वह नहीं मिली और लगभग मोहल्ले वालों और परिजनों के साथ मिलकर बच्ची की तलाश की गई। परिजन लगभग रात 10:00 बजे विंध्याचल गए, लेकिन बालिका का कोई पता नहीं चला। जब वह विंध्याचल से लौटकर आए तो लगभग रात को 11:00 बजे मकान के पास ही पत्थर पर बालिका का शव पड़ा हुआ मिला था।

यह भी पढ़े : मिर्ज़ापुर में 9 साल की मासूम का घर के पास से मिला शव, दुष्कर्म के बाद हत्या की आशंका

बालिका के गले को रस्सी से दबाया गया था और उसके चेहरे पर भी दांत के निशान थे। परिजनों ने दुष्कर्म के बाद हत्या की आशंका जताते हुए पुलिस को तुरंत सूचना दी थी। पुलिस मौके पर पहुंची और फिर एसपी अजय कुमार सिंह एवं अधिकारी डॉग स्क्वाड के साथ पहुंचे और पूरी घटना की जांच पड़ताल हुई।दुष्कर्म के इरादे से बच्ची की हत्या हुई थी, ऐसे में दो आरोपियों को गिरफ्तार भी किया गया है।

आरोपियों को मौत की सज़ा:

बच्ची के साथ दुष्कर्म करने वाले दो आरोपियों को मंगलवार सुबह शुक्लाह रोड, पुलिया के पास गिरफ्तार कर लिया गया था। पुलिस ने इन दोनों के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म, पॉक्सो एक्ट एवं अन्य संगीन धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया। घटना के बाद तुरंत विधायक रत्नाकर मिश्रा परिजनों से मिलने गए और परिवार वालों को जल्द से जल्द न्याय दिलाने एवं दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलवाने का वादा किया। रत्नाकर मिश्रा परिवार वालों से भेंट करते रहे और उनकी मांग को बड़ी गंभीरता से सुना। परिजनों की रत्नाकर मिश्रा से यह अपील थी कि, आरोपियों को फांसी की सजा दी जाए, जिसके बाद रत्नाकर मिश्रा ने आर्थिक सहायता के साथ-साथ न्यायिक लड़ाई में भी साथ देने का आश्वासन दिया था।

दुकानदारों ने दी श्रद्धांजलि:

कटरा कोतवाली क्षेत्र के एक मोहल्ले की बालिका के साथ दुष्कर्म हुआ तो पूरे मिर्ज़ापुर में एक जन आक्रोश पैदा हो गया सभी लोग कैंडल मार्च निकालकर बच्ची को इंसाफ दिलाने की मुहिम में जुड़ गए बच्ची को पूर्ण रूप से इंसाफ दिलाने के लिए दोपहर में नगर के अधिकांश दुकानदारों ने अपनी दुकानों को 15 मिनट के लिए बंद रखा और बच्ची को श्रद्धांजलि दी दुकानदारों ने अपनी दुकान का शटर गिराकर कैंडल भी जलाया। बालिका के परिवार को संबल देने के लिए व्यापारियों एवं दुकानदारों ने एकजुट होकर कुछ देर के लिए दुकानें बंद करने की अपील की थी। इसको मद्देनजर रखते हुए शुक्रवार को दोपहर 1:00 बजे घंटाघर, वासलीगंज, चौबे टोला, बेलतर, गिरधर का चौराहा एवं अन्य मोहल्लों की दुकानें और रिटेल सेक्टर को बंद किया गया और इस दौरान दुकानों के शटर गिराकर कैंडल जलाकर बच्ची को श्रद्धांजलि दी गई।

Educate करना ज़रूरी:

मिर्ज़ापुर परिवार भी आपको यह आश्वासन देता है कि जब तक इस मासूम बच्ची को न्याय नहीं मिल जाता हम पल-पल की खबर आपको अपडेट करते रहेंगे। ऐसे में खास बात यह है जिसपर हमें यह सोचना यह है कि जिस सिनेमा से लोग प्रभावित होते हैं, हीरो जब एंट्री लेता है तो उसकी एंट्री पर सीटियां मारते हैं। अपने फेवरेट हीरो की फिल्म देखने जाते हैं, भले ही उस किरदार को निभाने के लिए वह सिगरेट पीता हो या शराब का सेवन करता हो लोग ऐसे बात को सराहना देते हैं। लेकिन क्या सिनेमा के जरिए ऐसे गंभीर मुद्दे को रोकने के लिए और फिल्में बनानी चाहिए या नहीं। ऐसे में सरकार की भी जिम्मेदारी बनती है कि, वह समय-समय पर ऐसी आपत्तिजनक घटना को रोकने के लिए लोगों को एजुकेट करें, ताकि ऐसी घटना दोबारा उत्पन्न न हो। 9 साल की बच्ची का रेप हो जाना और उसके बाद उसकी हत्या हो जाना बड़ी ही शर्मनाक बात है और यह एक छोटी मानसिकता को दर्शाती है। ऐसे में जरूरी है कि लोगों को हम इसके खिलाफ एजुकेट करें ताकि दोबारा ऐसी घटना न हो।