मिर्ज़ापुर: बाहुबली नेता विजय मिश्र के पुत्र ने जमा नहीं की बालू पट्टी की किश्तें, DM द्वारा 2 करोड़ की आरसी ज़ारी

ज्ञानपुर से विधायक बाहुबली नेता विजय मिश्र के पुत्र खिलाफ़ दो करोड़ रुपए की आरसी जारी की गई है। इसके बाद प्रदेश में यह खबर बड़ी तेजी से फैल रही है।

 
image source : yoyocial
बालू-पट्टी की किश्त न ज़मा करने पर 2 करोड़ की आरसी।


मिर्ज़ापुर, Digital Desk: उत्तर प्रदेश में राजनीति बड़ी दिलचस्प होती है, ऐसे में हम आज बात करने जा रहे हैं ज्ञानपुर से विधायक विजय मिश्र एवं उनके पुत्र के बारे में। आपको बता दें कि विजय मिश्रा एक ऐसे विधायक है जो फिलहाल जेल में हाई सिक्योरिटी के तहत बंद है। विजय मिश्रा तो जेल में बंद है लेकिन बाहर उनके पुत्र नव निर्माण कंस्ट्रक्शन इंफ़्रा हाइट प्राइवेट लिमिटेड के मालिक है एवं इंफ्रास्ट्रक्चर का काम पूरी तरह संभालते हैं।

क्यों ज़ारी हुई 2 करोड़ की आरसी:

बता दें कि विजय मिश्र के पुत्र अब पूरा इंफ्रास्ट्रक्चर का काम देखते हैं। ऐसे में उनके खिलाफ अब सवा दो करोड़ से अधिक की आरसी जारी कर दी गई है, माना जा रहा है कि डीएम ने आरसी का आदेश दिया था। आरसी एवं बकाया रुपया जमा न करने पर ज्ञानपुर तहसील में राजस्व कर्मी विष्णु की चल-अचल संपत्ति जप्त करेंगे।

बताया जा रहा है कि विष्णु मिश्रा ने बालू पट्टे की किस्त जमा  नहीं की है और कंपनी द्वारा दोनों पट्टे से खनन करने के बाद भी राजस्व जमा नहीं किया। इसमें गोगांव पट्टे पर 12534206 का राजस्व बकाया है, वहीं 1769000 का अवैध खनन है। नदनी पट्टे पर भी 1 करोड़ 12 लाख़ 49 हज़ार 704 रुपये बकाया है। इस बात के लिए पहले विष्णु मिश्रा को नोटिस के तहत चेतावनी दी गई थी और महीने भर का समय भी दिया था। लेकिन उन्होंने आरसी जमा नहीं की, नोटिस में लिखा था कि अगर वह किस्त जमा नहीं करेंगे तो आरसी जारी हो जाएगी और ऐसा ही हुआ अब धन राशि को वसूलने के लिए ज्ञानपुर तहसील के राजस्वकर्मी चल-अचल संपत्ति को ज़ब्त करेंगे।

विजय मिश्र:

फिलहाल विजय मिश्र तो जेल में बंद है और वह जेल भी साधारण जेल नहीं है, बल्कि एक हाईटेक सिक्योरिटी जेल है। जहां पर उन्हें बंद करके रखा गया है, विजय मिश्रा ज्ञानपुर से विधायक है और परिवारवाद के चलते हुए 2 मुकदमों के तहत वे जेल में है। पिछले दिनों उन्होंने योगी आदित्यनाथ से अपने मंत्रियों के खिलाफ शिकायत की थी कि वह उनकी बात नहीं मानते।