मिर्ज़ापुर: घर में खुशी का माहौल मातम में बदला, बहन की शादी से पहले भाई की सड़क हादसे में मौत

एक भाई अपनी बहन की शादी का तिलक चढ़ा कर घर वापस लौट रहा था, तभी तेज रफ्तार से गाड़ी आई और उसकी बाइक को टक्कर मारी।

 
image source : business standard

मातम में बदली घर की खुशियाँ।

मिर्ज़ापुर, Digital Desk: बहन की शादी में अगर पिता के बाद सबसे ज्यादा योगदान किसी का होता है, तो वह उसके भाई का होता है। भाई अपनी बहन की शादी में एड़ी चोटी का जोर लगा देता है और अपने पिता की सहायता करता है। लड़की का कन्यादान तो पिता ही करता है, लेकिन पूरी शादी की अरेंजमेंट को देखना एवं विदाई के रसम में भाई का सबसे बड़ा योगदान होता है। ऐसे में अगर लड़की का भाई ही शादी के पहले मर जाए, तो यह एक बहन के लिए सबसे बड़े दुख की बात है ऐसा ही कुछ इस घटना में हुआ।

Road Accident में भाई की मौत:

मिर्ज़ापुर के लालगंज थाना क्षेत्र में बुधवार देर रात को भाई अपनी बहन का तिलक चढ़ाकर सभी रस्मों को पूरा करके अपने रिश्तेदार के साथ घर लौट रहा था। भाई अपनी बहन की शादी होने पर काफी खुश था, लेकिन बीच सड़क में ही एक ऐसा हादसा हुआ कि भाई घर ही नहीं पहुंच पाया। बताया जा रहा है कि घर आते वक्त एक अज्ञात गाड़ी ने बाइक को ऐसी टक्कर मारी की भाई और उसके साथ वाला रिश्तेदार सड़क हादसे में मारे गए।

पुलिस का कहना:

पुलिस ने बताया कि, अज्ञात गाड़ी ने बाइक सवार श्याम मुरारी जिसकी उम्र 28 वर्ष थी और अश्विन जिसकी उम्र 14 साल थी इन्हें तेज रफ्तार से उड़ा दिया। जिसके बाद इन दोनों की वहीं पर मृत्यु हो गई। बताया जा रहा है कि महज 14 साल का अश्विनी अपनी बहन का तिलक चढ़ा कर रिश्तेदार श्याम मुरारी के साथ बाइक से जीजा जी के यहां गया था। वहां से जब वह घर लौट रहा था, तभी अचानक रस्ते में तेज़ गाड़ी से किसी से उन्हें टक्कर मारी और वहीं उसकी मृत्यु हो गई। पुलिस ने इन दोनों का शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

शादी में मातम:

जिस घर में बहन की डोली उठने वाली थी, अब डोली से पहले भाई की लाश कंधो पर उठेगी। यह इस परिवार के लिए बड़ी ही दर्दनाक दुर्घटना है, जिसे वह सालों तक नहीं भूल पाएंगे। फिलहाल अश्विनी के परिवार वाले काफी दुखी हैं एवं परिवार और आस पड़ोस में मातम का माहौल है।