Mirzapur-Varanasi Boat Accident: 5 दिन बाद भी नहीं चला डूबे हुए तीन लड़कियों का पता, नाव हादसे में डूब कर गायब हो गई थी

वाराणसी-मिर्ज़ापुर बोट हादसे के दौरान 3 लड़कियां पानी में डूब गई थी।

 
image: seguin
बोट हादसे में डूबे थे कुल 5 लोग, 2 को बचाया 3 गायब।

मिर्ज़ापुर, Digital Desk: आज से लगभग 5 दिन पहले मिर्ज़ापुर और वाराणसी के बॉर्डर पर टिकरी गांव के पास बीच गंगा में एक नाव हादसा हुआ था। नाव में लगभग 5 लोग सवार थे, नाव जब पलटी तो उस वक्त नाव में 5 लोग थे। एक नाव चलाने वाला, एक महिला और 3 चचेरी बहनें। किसी तरह से नाव वाले और उस महिला को बचा लिया गया था। लेकिन वह तीन चचेरी बहन ने पानी में ही रह गई और 5 दिन बाद भी उनका कोई पता नहीं चला।

पूरा हादसा:

दरअसल एक नाव पर 5 लोग जा रहे थे, तेज बहाव और पीपा पुल के निर्माण कार्य में एक रस्सी के फंसने के कारण नाव नदी में पलट गई हैं। नदी में पलटने के बाद कुछ लोगों ने नाम वाले नाविक और महिला को बचा लिया, लेकिन वह तीन चचेरी बहन ने अभी तक लापता है। बताया जा रहा है कि, यह तीन बहनें किसी बापू या किसी स्पिरिचुअल गुरु के यहां प्रवचन सुनने और प्रसाद लेने गई थी। वे वापस लौट रही थी, तभी यह हादसा हो गया और आज लगभग 5 दिन हो गए हैं, उनका कोई पता नहीं है।

यह भी पढ़े :Mirzapur-Varanasi Boat Accident: नाव पलटने से तीन लड़कियों अभी तक लापता, एक महिला को बचाया गया

NDRF का अथक प्रयास:

एनडीआरएफ की टीम लगातार अथक प्रयास करती रही लेकिन अब उनके सारी मेहनत असफल साबित होती हुई नजर आ रही है, क्योंकि इन तीन बहनों का कोई पता नहीं चल रहा है। वाराणसी के राजघाट से खोजबीन करते हुए यह एनडीआरएफ की टीम घटनास्थल तक पहुंच गई। लेकिन सफलता नहीं मिल पाई। यह तीनों बहने कहां है किसी को नहीं पता, फिर भी एनडीआरएफ की टीम लगातार मेहनत करती जा रही है। बताया जा रहा है कि, पीपा पुल के निर्माण कार्य में कई सारे सामान नदी में फैले हुए थे। ऐसे में नाव रस्सी में फंस कर पलट गई।

पीपापुल से कार्यकर्ता गायब:

जैसे ही नाव हादसा हुआ पीपा पुल के कार्यकर्ता वहां से भाग निकले। कई सारे लोगों ने पीपा पुल के कार्यकर्ताओं पर यह आरोप लगाया कि, अगर वे चाहते तो इन तीन लड़कियों को बचा सकते थे। लेकिन वहां से भाग निकले जिसके कारण लड़कियों को पूर्ण रूप से सहायता नहीं मिल पाई।