Mirzapur: Omicron के बढ़ते प्रकोप को लेकर ज़िला मिर्ज़ापुर की क्या है तैयारी

खबर अनुसार प्रदेश में ओमिक्रोन का संक्रमण बढ़ता जा रहा है। जिससे उत्तर प्रदेश में अब नाईट कर्फ़्यू लागू कर दिया गया है।

 
image : yeni safak
मिर्ज़ापुर में ओमिक्रोन को लेकर क्या है ख़ास तैयारी।

मिर्ज़ापुर, Digital Desk: उत्तर प्रदेश में ओमिक्रोन के बढ़ते हुए प्रकोप को देखते हुए अब शासन पूर्ण रूप से सचेत हो गया है। ऐसे में आप सबको पता है कि, आज से नाइट कर्फ्यू लागू हो रहा है। नाइट कर्फ्यू में रात 11:00 बजे से लेकर सुबह 6:00 बजे तक आप घर से बाहर नहीं जा सकते और अगर नाईट कर्फ्यू का पालन नहीं करेंगे तो आपके खिलाफ कड़ी कार्यवाही भी की जाएगी। वहीं स्वास्थ्य विभाग ने अपनी टीम को तैयारियों में तेज कर दिया है, अब ऐसे में आपको कोरोना की जांच से लेकर टीकाकरण की गति को बढ़ा दिया गया है।

विस्तार:

इस विषय पर विस्तार से बात किया जाए तो जिला मिर्ज़ापुर में कोरोनावायरस को लेकर टीकाकरण की गति को अब तेज़ कर दिया गया है। सप्ताह भर में स्वास्थ्य विभाग ने एंटीजन और आरटीपीसी जांच की हुई सीमा बढ़ा दी है। फिलहाल जिले में 4-4 ऑक्सीजन प्लांट भी लग चुका है। वह ओमिक्रोन को देखते हुए एंबुलेंस पूर्ण रूप से सुरक्षित कर लिया गया है। इसके साथ मंडलीय अस्पताल परिसर स्थित निर्माणाधीन भवन एवं ट्रामा सेंटर में कोरोना वार्ड बना दिए गए हैं।

अस्पताल की तैयारी:

कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए अब अस्पताल भी सचेत हो गए हैं। मंडलीय अस्पताल एवं ट्रामा सेंटर में कोरोनावायरस के वार्ड बनाए गए हैं। जिसमें आईसीयू की सुविधा भी उपलब्ध कराई गई है, खास इसमें ओमिक्रोन को देखते हुए 6 बेड आईसीयू के साथ सुरक्षित कराए गए हैं। तैयारी को मध्य नजर रखते हुए भी स्वास्थ्यकर्मी में भी अपनी सेहत का ख्याल रख रहे हैं। पूर्ण रूप से देखा जाए तो वे अलर्ट पर है।

बाहर से आने वाले लोग:

जो लोग बाहर के क्षेत्र से प्रदेश में आ रहे हैं या प्रदेश के लोग जो बाहर काम से गए थे, अब वह छेत्र में आ रहे हैं तो उनकी भी कोरोनावायरस जाँच कराई जाएगी। प्रशासन किसी प्रकार से भी इस संक्रमण को बढ़ने नहीं देना चाहता, इसलिए सब की जांच अति आवश्यक है। इसके साथ टीकाकरण की भी गति को बढ़ा दिया गया है, जिले में लगभग पहले डोज़ के 90% लोग अपना टीकाकरण करवा चुके हैं, जबकि 50% लोग दूसरा डोज़ ले चुके हैं।

आइसोलेशन वार्ड:

जिले में लगभग कोरोनावायरस केवल 30 बेड के साथ बना दिए गए हैं , जिसमें आईसीयू की सेवा भी उपलब्ध है। वहीं 50 वर्ड आइसोलेशन वार्ड के भी तैयार कर दिए गए हैं।