अब 21 वर्ष पर होगी लड़कियों की शादी, मिर्ज़ापुर की बेटियों ने दिया अपना रिएक्शन

कैमरा द्वारा लड़कियों की शादी की उम्र सीमा में बदलाव किया गया। पहले लोग इनकी उम्र सीमा 18 वर्ष थी, लेकिन उसे बदलकर 21 कर दिया गया है। ऐसे में मिर्ज़ापुर की महिलाओं ने इस फैसले का स्वागत किया।

 
image source : onmanorarama

21 वर्ष की उम्र में होगी और महिलाओं की शादी।

मिर्ज़ापुर, Digital Desk: कैबिनेट द्वारा फैसले में बदलाव किया गया। जिसके बाद अब यह तय हुआ है कि, महिलाओं की शादी की उम्र 18 वर्ष नहीं होगी बल्कि 21 वर्ष होगी। इस फैसले को बड़े ही हर्षोल्लास के साथ युवक-युवतियों ने स्वागत किया और इस पर अपनी सहमति जताई। कैबिनेट के द्वारा केंद्र की सरकार ने लड़कियों के लिए 21 वर्ष की उम्र निर्धारित की गई है। ऐसे में लड़कियों के लिए खुशी की बात है क्योंकि अब वे अपने सपनों को पूरा कर सकती है, जिसके लिए उन्हें समय मिलेगा। इस फैसले का हर किसी ने खुलकर स्वागत किया है। ऐसे में  मिर्ज़ापुर की बेटियों ने अपनी राय दी।

लड़कियों ने किया फ़ैसले का समर्थन:

मिर्जापुर की बेटियों ने इस फैसले का जमकर स्वागत किया है एवं उनकी खुशी का ठिकाना नहीं है। लड़की ने बताया कि अब लड़कियां पहले से ज्यादा बेहतर अपने आप को तैयार कर सकेंगी। अपने आपको फिटनेस के प्रति सजग रख सकेंगे, पढ़ाई के नए अवसर को प्राप्त कर सकेंगे एवं कम आयु में जो उनकी शादी कर दी जाती थी, उन समस्याओं से भी उन्हें निवारण मिलेगा। मानव अधिकार नगर अध्यक्ष ने कहा कि, सरकार का यह निर्णय अत्यंत सराहनीय है और सरकार के इस फैसले से तमाम लड़कियां अपने आप को सुरक्षित महसूस कर रही हैं। साथ ही वे अपने बेहतर भविष्य के प्रति महत्वपूर्ण कदम भी उठा सकती हैं।

देशहित में सराहनीय कदम:

जय हिंद मानव अधिकार एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष ने भी सरकार के निर्णय का स्वागत किया और बताया कि सरकार द्वारा लड़कियों की शादी की उम्र 21 वर्ष करना सराहनीय कदम है जो देश हित के समर्थन में है। युवाओं के लिए भी बहुत अच्छा कदम बताते हुए उन्होंने कहा अब लड़कियों और शिक्षित होंगी और पहले कम आयु में ही शादी हो जाने के कारण लड़कियां पढ़ाई लिखाई से वंचित रह जाती थी। लेकिन अब यह जो 3 साल का समय मिल जाएगा इसमें भी बहुत कुछ कर सकती हैं, जिससे लड़कियों का भविष्य उज्जवल होगा। इस फ़ैसले से सभी धर्म, जाति की लड़कियों के भविष्य को फायदा होगा। सरकार के इस फैसले का जिस तरह से आम जनमानस स्वागत कर रही है, उस पर सबको सरकार पर एक बार फिर से भरोसा होता नजर आ रहा है एवं चुनाव के पहले यह सरकार की एक बढ़िया स्ट्रेटेजी है।

सरकार ने अभी लड़के और लड़कियों की शादी की उम्र सीमा 21 वर्ष कर दी है।