नसबंदी हुई फेल, गोद में नवजात रहा खेल

पति का आरोप स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही के चलते पत्नी गर्भवती हो गई
 
नसबंदी के बाद महिला ने शिशु को दिया जन्म
पत्नी को दो पुत्र और दो पुत्री पहले से ही हैं


मिर्ज़ापुर, हलिया : क्षेत्र के हलिया ग्राम पंचायत के जोगियाबारी मोहल्ले में रहने वाली नज़मा पत्नी शमीम ने इस साल जनवरी 2021 में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में लगे कैम्प में नसबंदी कराया था।

स्वजनों ने आरोप लगाया कि नसबंदी कराने के बावजूद भी महिला गर्भवती हो गई, लेबर पेन यानी प्रसव पीड़ा शुरू होने पर शुक्रवार की देर रात प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया।

दूसरे दिन सुबह एएनएम की निगरानी में महिला ने एक बिल्कुल स्वस्थ बेटे को जन्म दिया।

महिला का पति शमीम उर्फ फिरंगी लाल ने आरोप लगाया कि इसी साल जनवरी महीने में नसबंदी कराया था और बावजूद इसके स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही के चलते पत्नी गर्भवती हो गई।

पत्नी को दो पुत्र और दो पुत्री पहले से ही हैं। परिवार नियोजन के लिए नसबंदी कराया था लेकिन पत्नी कुछ दिनों बाद गर्भवती हो गई। हालांकि जच्चा बच्चा दोनों स्वस्थ हैं।

इस संबंध में लेडीज़ डॉ. निर्मल ने बताया कि कभी कभार नसबंदी आपरेशन फेल होने के कारण महिलाओं में यह समस्या होती है और नसबंदी के बाद भी महिलाएं गर्भवती हो जाती हैं।

रिपोर्ट- रवि यादव, जिला संवाददाता
मिर्ज़ापुर ऑफिशियल