किसानों के लिए सरदर्द बना यह किराएदार, 2 करोड़ का धान खरीद कर हो गया फरार, तलाश में जुटे सभी किसान

प्रयागराज से आया हुआ एक किसान अन्य किसानों के लिए सरदर्द बन गया। क्योंकि वह अन्य किसानों का लगभग दो करोड़ रुपए का धान खरीदकर बिना पैसे दिए फरार हो गया।

 
image: indiamart
किसान की तलाश में जुटे किसान।


मिर्ज़ापुर, Digital Desk: मिर्ज़ापुर से एक बड़ी अजीब खबर सुनने को मिली, जिसमें एक किसान ने किसानों को लूट लिया और उनका करोड़ों रुपए का नुकसान कर दिया। मिर्ज़ापुर में प्रयागराज से आया हुआ एक किसान यहां मिर्जापुर के किसानों पर लगभग 2 करोड रुपए की चपत लगाकर 100-200 क्विंटल धान लेकर फरार हो गया। ऐसे में अब अपना धान देने वाले किसान काफी परेशान हैं और उस व्यक्ति की तलाश में है, जिसने उन्हें करोड़ों का चूना लगाया।

पूरी घटना:

मिर्ज़ापुर में लगभग 3 साल से किराए के मकान में प्रयागराज का यह व्यापारी लालगंज क्षेत्र में रहता था। दरअसल, यह व्यक्ति किसानों के लिए सरदर्द बन गया, क्योंकि इसने किसानों से धान खरीद कर 15 दिन में पैसे देने का वादा किया था, लेकिन यह लगभग 2 करोड रुपए से अधिक का धान खरीद कर अब फरार हो गया है। धान के दाम मिलने की आस में अब किसानों की तलाश में जुट गए हैं। बताया जा रहा है कि यह व्यक्ति प्रयागराज से आया था और किराए का मकान लेकर रहता था और तभी अचानक एक दिन बोरिया बिस्तर समेट कर मिर्ज़ापुर से फरार हो गया।

व्यापारी का शिकार बने किसान एक दूसरे से उसकी जानकारी लेते हुए नजर आ रहे हैं। लेकिन किराएदार बनकर रहने वाला यह व्यापारी धान बेचने पर 15 दिन के अंदर पैसा देने का उसने वादा किया था, लेकिन वह उन्हें चुना लगा कर निकल गया। बताया जा रहा है कि सरकारी दाम से कम रेट मिलने के बाद भी किसानों ने अपनी फसल उसे बेच दे, जिसके एवज में उसने सैकड़ों किसानों से धान खरीदा। जिनसे भी वह धान खरीदा गया, उन्हें 15 दिन में पैसा देने का वादा करता गया।

ग्राम प्रधान से शिकायत:

15 दिन में रुपए देने का वादा करने के बाद उसने कई सारे किसानों से बड़े पैमाने पर धान खरीद लिए और जब किसानों को 15 दिन के बाद पैसा नहीं मिला तो वे व्यापारी के पास गए, लेकिन वह बोरिया बिस्तर लेकर वहां से फरार हो गया। बकाया धान मिलने की आस में किसान कथित व्यापारी के गांव के प्रधान से मिलकर पैसे का भुगतान वापस कराने की सिफारिश करने पहुंचे हैं। किसानों की समस्या को देखते हुए व्यापारी के गांव के प्रधान ने वादा किया है और भुगतान का आश्वासन भी दिया है। फिलहाल इस मामले में कोई पुलिस कंप्लेन हुई है या नहीं इस बात की जानकारी नहीं है।