Vindhyachal News नाव हादसा: नाव दुर्घटना के 72 घंटे बाद भी 5 लोगों का अबतक नही मिला कोई सुराग

नाव की भी तलाश नही कर पाई अभियान में जुटी आधा दर्जन टीम  
 
डीएम
डूब हुए लोगों को लगातार चार दिन से खोज रहे गोताखोर और एनडीआरफ की टीम  


मिर्जा़पुर, विन्ध्याचल: बुधवार को विन्ध्याचल के अखाडाघाट के सामने घटी नाव दुर्घटना के 72 घण्टे बाद भी अपने बच्चों व पत्नियों को देखने के लिए पीड़ितों की आँखे बेचैन प्रतीत हो रही है। पीड़ितों के साथ उनके गांव से कुल 45 लोग लगातार यही रुके हुए है। शनिवार को जिलाधिकारी प्रवीण कुमार लक्षकार व पुलिस अधीक्षक अजय कुमार सिंह अखाड़ा घाट पहुँचे।

मौके पर दोनों अधिकारियों ने पीड़ित परिजनों से मिलकर उनको हर संभव मदद का भरोसा दिलाया। जिलाधिकारी ने कहा कि पहले कभी भी ऐसी घटनाएं घटी है तो 24 से 36 घंटे के अंदर ही शव इत्यादि बरामद होता रहा है लेकिन इस बार गंगा जलस्तर में बढ़ाव और बहाव के कारण अभी तक डूबे व्यक्तियों की तलाश पूरी नही हो पाई है।

गोताखोरों ने जिलाधिकारी व एसपी को बताया कि अगर नाव पलट कर डूबी है तो संभव है कि घटनास्थल की गहराई में उन पांचों व्यक्तियों को लेकर बैठ गई होगी। तीन दिन से अधिक समय बीत चुका है, इसलिए नाव पर मिट्टी व बालू की मोटी परत जम गई होगी। पुलिस अधीक्षक ने अपने मातहतों को निर्देश जारी किया कि इस घाट पर जब तक खोज की प्रक्रिया पूर्ण नही हो जाती, तब तक के लिए 24 घंटे पुलिस की तैनाती सुनिश्चित रहेगी। नगर मजिस्ट्रेट विनय कुमार सिंह ने NDRF की टीमों को विभाजित होकर अलग अलग दिशा में उन्हें खोजने का आदेश दिया है।

उन्होंने चुनार, भटौली व गोगांव में एक- एक टीम तथा घटना स्थल पर तीन टीमों को लगातार प्रयास करने का निर्देश दिया है। पीड़ित परिजनों के लिए लंच बॉक्स का भी प्रबन्ध नगरमजिस्ट्रेट ने कराया है। एनडीआरफ के कार्यशैली से स्थानीयों व पीड़ितों में काफी असन्तोष दिखाई दिया। लोगों का कहना था कि लगभग चार दिन बीत गए पाँच लोगों की बात तो दूर, अभी तक जलमग्न हुई नाव की भी तलाश नही हो पाई है। 

बता दें कि नाव पर परिवार के 12 लोग राजेश (35), विकास (28), दीपक (27), वाहन चालक (अज्ञात), अल्का (9), रितिका (7), गुड़िया (28) खुशबू (30), अनीषा (26), सत्यम (5) और एक अन्य बच्चा उम्र (2½) व एक बच्ची (3माह) सवार थे। राजेश, विकास, दीपक, उनके वाहन चालक, अल्का, रितिका को बचा लिया गया। गुड़िया, खुशबू, अनीषा, सत्यम, एक अन्य बच्चा उम्र (2½) व एक बच्ची (3माह) डूब गए।  

रिपोर्ट- रवि यादव, जिला संवाददाता
मिर्ज़ापुर ऑफिशियल