Mirzapur: दहेज़ उत्पीड़न के मामले में पत्नी की होई थी हत्या, आरोपी पति को किया गया गिरफ़्तार

गोगांव गांव में सोमवार को एक दहेज उत्पीड़न(Dowry Murder)का मामला देखा गया। जिसमें पत्नी की मृत्यु हो गई थी, फिलहाल पुलिस ने उसके पति को गिरफ्तार कर लिया है।

 
image: times now

30 वर्षीय बबीता देवी का दहेज को लेकर हुआ खून।

मिर्ज़ापुर, Digital Desk: थाना क्षेत्र के गोगांव गांव में सोमवार सुबह संदिग्ध हालत में एक विवाहित महिला(wife murder) की मौत(Dowry Death)का मामला सामने आया। गोगांव गांव में सोमवार को एक दहेज उत्पीड़न(Dowry Murder)का मामला देखा गया। जिसमें पत्नी की मृत्यु हो गई थी, फिलहाल पुलिस ने उसके पति को गिरफ्तार कर लिया है। मामले में उसके पति रामसागर को हत्यारोपी मानकर पुलिस ने मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया। बबिता देवी की उम्र 30 वर्ष की थी, जिसकी संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। पिता राम सूरज बिंद निवासी रघईपुर ने उसके पति रामसागर पर बबीता की हत्या कर शव लटका देने का आरोप लगाते हुए पुलिस को तहरीर दी थी।

विस्तार:

बबीता के पिता का आरोप है कि, शादी के बाद से ही दहेज(dowry death) के लिए उसका पति बेटी को प्रताड़ित करने लगा था। खास बात यह है कि, बबीता की राम सागर से दूसरी शादी हुई थी। बबीता के पहले पति की दुर्घटना में 10 वर्ष पूर्व मौत हो गई थी। रामसागर ने भी अपनी पहली पत्नी को छोड़ दिया था, जिसके बाद रामसूरत की तहरीर पर पुलिस ने दहेज हत्या(dowry death)का मुकदमा दर्ज़ कर लिया है और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। फिलहाल, थानाध्यक्ष विजय कुमार सरोज ने बताया कि, आरोपी रामसागर को गिरफ्तार कर लिया गया है।

आए दिन दहेज को लेकर पति पत्नी के बीच झगड़ा होता रहता था, लेकिन यह झगड़ा किसी की जान ले लेगा, यह किसी ने नहीं सोचा था। पुलिस केस की कार्यवाही आगे करेगी लेकिन शत प्रतिशत यही लग रहा है कि, पति ने अपनी पत्नी का खून किया है और बाद में उसके शव को लटका दिया।