क्या इस बार मकर संक्रांति पर मिर्ज़ापुर के घाटों पर उमड़ेगी भीड़, फिलहाल तैयारियां नदारद

14 जनवरी से ही घाटों पर Makar Sankranti के दिन भोर में ही श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ जाएगी।

 
image: amar ujala
प्रशासन की तरफ़ से नज़र नहीं आई कोई भी तयारी।

मिर्ज़ापुर, Digital Desk: मकर संक्रांति(Makar Sankranti) पर विभिन्न गंगा घाटों पर हजारों की संख्या में श्रद्धालुओं की भीड़ बढ़ती है। लेकिन मंगलवार तक गंगा घाट पर प्रशासन की ओर से किसी प्रकार की तैयारी नजर नहीं आई। 14 January को भोर से ही घाटों पर स्नानार्थियों की भीड़ जुटने शुरू हो जाएगी। लेकिन इस बार बढ़ते हुए संक्रमण(Corona Outbreak) को देखकर लगता है कि, प्रशासन कोई सख्त कदम उठाने वाला है। जिससे लोग पूर्ण रूप से सुरक्षित रहे।

विस्तार:

आलम यह है कि गंगा घाट की ओर जाने वाले विभिन्न मार्ग सहित गंगा घाटों पर गंदगी है। अधिकतर घाटों पर अगल-बगल गंदगी फैली हुई है। अधिकतर गंगा घाट पर महिलाओं के लिए वस्त्र बदलने का इंतजाम तक नहीं किया गया है, इससे महिलाओं को परेशानी का सामना करना पड़ता है। यही नहीं बरसात के दिनों में गंगा में आई बाढ़ के बाद घाटों पर सिल्ट सफाई नहीं कराई गई है। इससे घाटों की सीढ़ियों पर फिसलन बनी हुई है।

नगर के बरियाघाट सहित सड़क की पटरियों पर जहां तक गंदगी फैली हुई है। जानवरों के झुंड के साथ यहां हर समय सड़क की पटरियों पर चार पहिया वाहनों का मेला लगा रहता है। श्री पंचमुखी महादेव मंदिर से लेकर गंगा घाट तक कूड़े का अंबार लगा हुआ है, साथ ही साथ सड़क पर गोबर फैला रहता है। जिससे यह सड़क काफी गंदी रहती है, इससे स्नानार्थियों को मुसीबत का सामना करना पड़ता है। नगर के त्रिमुहानी स्थित पक्का घाट पर अव्यवस्थाओं का बोलबाला है। बरसात में गंगा में आई बाढ़ के बावजूद सीढ़ियों पर जमी सिल्ट आज भी नहीं हटाई गई है।

विंध्याचल:

विंध्याचल धाम के घाट सहित सड़कों एवं गलियां सफाई को लेकर नगर पालिका प्रशासन बेपरवाह बना हुआ है। गंगा घाट की ओर जाने वाले मार्ग सहित गंगा घाट पर चारों तरफ कूड़ा करकट एवं गंदगी का अंबार लगा हुआ है। दीवान घाट, ईमली घाट, अखाड़ा घाट और गोदारा घाट पर गंदगी पसरी हुई है। पक्का घाट पर तो महिलाओं को वस्त्र बदलने के लिए भी गंदगी वाले स्नान स्थान पर जाना होगा। शाम होते ही गंगा घाट पर चारों तरफ अंधेरा पसर जाता है। घाट पर चोर, उचक्के भी सक्रिय हो जाते हैं। सुरक्षा के लिए पुलिस कि कोई प्रकार की सुरक्षा सामने नहीं आती।

इस बार इस वायरस का संक्रमण बड़ी तेजी से बढ़ता हुआ नजर आ रहा है, जिसके चलते अब प्रशासन की तरफ से मकर संक्रांति के दिन कोई खास व्यवस्था की जाएगी, यह बात अनिश्चित लग रही है। लेकिन फिलहाल अभी 2 दिन बचे हैं, क्या पता प्रशासन कुछ करें। लेकिन इस वक्त सबकी भलाई इसी में है कि, वह घर में रहे और अपनी सेहत का ख्याल रखें। क्योंकि इस वक्त प्रदेश में वायरस का संक्रमण तेजी से बढ़ता जा रहा है।