डेढ़ साल से भारत में नाम बदलकर रह रही थी बांग्लादेशी महिला, मऊ में पति के साथ रहती थी फरज़ाना उर्फ़ सोना

एक व्यक्ति को एक बांग्लादेशी महिला से फेसबुक पर प्यार हो गया। महिला नाव के रास्ते कोलकाता चली आई , फिर वहां से मऊ।

 
image source : zeenews
फरज़ाना से कैसी बनी सोना राजभर।
मऊ, Uttar Pradesh: प्रेम का परवान कभी-कभी इतना ज्यादा चढ़ जाता है कि, फिर इंसान को कुछ नहीं सूझता ऐसे ही एक किस्सा मऊ ज़िले में सुनने को मिला। मऊ ज़िले का यह व्यक्ति बांग्लादेशी महिला के प्रेम में पड़ गया, इसके बाद अपने प्यार के खातिर उसने सारी सीमाओं को लाँग कर, उसे भारत ले आया फ़िर उसने उससे शादी कर ली और मऊ में फरज़ाना नाम बदलकर रहने लगी।

क्या है पूरा विवाद?

पुलिस के मुताबिक देश की सीमा में महिला को घुसपैठिए के तौर पर घुस आई थी। भारत के इस युवक की प्रेम कहानी महिला से फेसबुक पर शुरू हो गई। फेसबुक पर इन दोनों की प्रेम कहानी शुरू हुई, फिर यह दोनों एक दूसरे से प्रेम में पड़ गए। अब युवक के सबसे बड़ा चैलेंज है, वह इस महिला को भारत में कैसे लाएं बांग्लादेश और भारत की सीमा में प्रवेश कर गई। डेढ़ साल से फर्जी कागजात के बदौलत वह मऊ जिले में मशहूर कोतवाली ब्रह्म स्थान में गुलशन राजभर के साथ कथित तौर पर पत्नी के रूप में रह रही थी।

कैसे हुए ख़ुलासा?

अवैध तरीके से नाव के माध्यम से युवक-युवती को पश्चिम बंगाल में ले आया। दोनों बड़े ही आराम से एक दूसरे के साथ रहते थे। फर्जी कागजात के बदौलत उन्होंने पासपोर्ट, वीजा और बैंक में खाता भी खुलवा लिया था। बांग्लादेशी महिला की पति से कुछ अनबन होने के बाद सुसाइड करने के लिए नदी में कूदने जा रही थी। जिसके बाद वहां उपस्थित लोगों ने उसे बचाया और पुलिस को सौंप दिया। मामले का खुलासा हुआ और महिला और पति को साथ में गिरफ्तार कर लिया गया।

पकड़े जाने पर पुलिस के सामने युवक के सच का राज खुला। युवक ने बताया कि वह कोलकाता से मऊ लड़की को कार के माध्यम से ले आया था। उसका मानना था कि कार में लोग इसे पश्चिम बंगाल का समझेंगे और आसानी से बिना कहीं पकड़े हुए, वह उसे मऊ ले आया। मऊ आने पर उन्होंने दो फर्जी पासपोर्ट, दो आधार कार्ड, फर्जी पासबुक बरामद किया और संबंधित धाराओं के तहत अब उनके ऊपर मुकदमा दर्ज किया गया है।