एक साल पूरे हुए राम जन्मभूमि पूजन को, अयोध्या पहुंचें सीएम योगी धार्मिक अनुष्ठान में हुए शामिल

 
योगी जी

अयोध्या, उत्तर प्रदेश के अयोध्या में राम मंदिर के भूमि पूजा की पहली वर्षगांठ पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज गुरुवार को रामनगरी पहुंचे। यहाँ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रामजन्मभूमि परिसर में सबसे पहले राम मंदिर के मॉडल की पूजा की।
इसके पहले सीएम योगी ने अयोध्या को 'भारत की संपूर्ण आस्था के केंद्र बिंदु' बताते हुए गुरुवार सुबह राम मंदिर निर्माण के लिए 'भूमि-पूजन' की पहली वर्षगांठ पर देश को बधाई दी।


 


सीएम ने भूमि पूजन के 1 साल पूरा होने के उपलक्ष्य में आयोजित धार्मिक अनुष्ठान में भाग लिया साथ ही रामलला का दर्शन कर आरती भी उतारी। इसके बाद योगी परिसर में चल रहे राम मंदिर निर्माण के कामों का जायजा लेने पहुंचे। मुख्यमंत्री योगी  प्रधानमंत्री ने इसके अलावा गरीब कल्याण अन्न योजना वितरण कार्यक्रम में वासुदेवघाट पर इस योजना का शुभारंभ किया और लाभार्थियों को राशन वितरित किया।

बता दें कि बीते साल 5 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन किया था। इस कार्यक्रम के एक साल पूरा होने पर अयोध्या में गुरुवार को विशेष कार्यक्रम आयोजित किए गए हैं। 5 अगस्त साल 2020 में जब देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अयोध्या आए थे तब उन्होंने राम जन्मभूमि परिसर में मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन किया था जिसके बाद शाम को राम नगरी दीपों से जगमगा उठी थी। इस साल भी कुछ इसी तरह का प्रयास अयोध्यावासी करने जा रहे हैं, जिसमें भूमि पूजन के 1 वर्ष पूरे होने की संध्या पर अयोध्या में दीपोत्सव जैसे कार्यक्रम की झलक दिखाई देगी। नगरवासी अपने घरों के सामने दीपक जलाकर इस महत्वपूर्ण तारीख को याद करेंगे।

अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण
बता दें कि सुप्रीम कोर्ट की संविधान पीठ ने 9 नवंबर, 2019 को अपने फैसले में, 40 दिनों की मैराथन सुनवाई के बाद, अयोध्या में पूरे विवादित क्षेत्र को हिंदू पक्षों को सौंप दिया था। इसने केंद्र को तीन महीने के भीतर एक योजना तैयार करने का निर्देश दिया, जो मंदिर निर्माण के लिए जिम्मेदार होगी। दूसरी ओर, SC ने आदेश दिया कि अयोध्या में 5 एकड़ की वैकल्पिक भूमि सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड को मस्जिद निर्माण के लिए दी जाएगी। 

जमीन पर सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के बाद 5 अगस्त 2020 को अयोध्या में राम मंदिर की नींव रखी गई थी। 12 अगस्त को श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ने बताया था कि अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण से संबंधित सभी कार्य शुरू हो गए थे। मंदिर निर्माण का काम भी तेजी से चल रहा है। मंदिर के नींव की 24 लेयर भी तैयार हो चुकी हैं और 25वीं नींव पर काम जोरों से चल रहा है।