म्यूच्यूअल फण्ड और ज़मीन की ठगी करने वाला नटवरलाल गिरफ़्तार, कई ज़िलों में की करोड़ो की ठगी

फर्जी कंपनी बनाकर ठगी करने वाला व्यक्ति नटवरलाल को मिल पुलिस ने आखिरकार गिरफ्तार कर लिया है। नटवरलाल ने कई सारे जिलों में जमीन की ठगी और करोड़ों रुपए हड़प लिए।

 
image source : fraud laws

फ़र्ज़ी कंपनी बनाकर करता था करोड़ो की ठगी।

उत्तर प्रदेश, Digital Desk: जमीन हड़पने के मामले हम अक्सर आए दिन सुनते रहते हैं। जो भी जमीन हड़पने का काम करता है, वह एक बार में पकड़ा जाता है। लेकिन जो एक बार में पकड़ा नहीं जाता, वह इसका आदतन अपराधी बन जाता है और यह बार-बार दोहराता है। ऐसा ही कुछ नटवरलाल नाम के इस शख्स ने किया, नटवरलाल कई सारी फर्जी कंपनियां खोली और उसकी अवज़ में करोड़ों रुपए हड़प लिए। नटवरलाल रायबरेली के साथ-साथ वाराणसी प्रयागराज कानपुर समेत बाद से जिलों के हजारों लोगों के साथ करोड़ों रुपए की ठगी कर चुका है। अब तक पुलिस की जांच में सिर्फ रायबरेली में 5 करोड़  की ठगी की बात सामने आई। लेकिन अभी अन्य जिलों की रिपोर्ट आनी बाकी है। नटवरलाल उन्हें दोगुना पैसा देकर अपने झांसे में फंसाने का काम करता था, पुलिस ने पूछताछ करने के बाद नटवरलाल को जेल भेज दिया है।

2008 से शुरू किया फ्रॉड:

2008 से फरवरी कंपनी बनाने का उसमें काम शुरू किया। लोगों को पैसा दोगुना कराने के लालच में, वह उनसे रकम लूटता रहता था। रायबरेली, वाराणसी समेत मिर्ज़ापुर एवं अन्य जगहों पर भी उसने यह फ्रॉड किया है। वह खुद को कंपनी का मालिक बनाता था और म्यूचुअल फंड और प्लॉट दिलाने के नाम पर ठगी करता था।

नटवरलाल ने कई सारी कंपनियां बनाई, जिनका नाम ग्रीन इंडिया बायोटेक फॉरेस्ट्री लिमिटेड, ग्रीन इंडिया म्युचुअल बेनिफिट लिमिटेड, ग्रीन टाउन निधि लिमिटेड, ग्रीन काशी निधि लिमिटेड, ग्रीन विन्द्य निधि लिमिटेड, ऐसा करके उसने कई सारी कंपनियां बनाई और 40000 लोगों से लगभग ₹500000000 से भी ज्यादा की ठगी की है।

नटवरलाल का यह खेल लगभग 13 सालों तक चलता रहा और इन 13 सालों में उसने किसी को नहीं बख्शा और हजारों लोगों के साथ उसने ठगी की। केवल रायबरेली में ही उसने अभी तक ₹5 करोड़ की ठगी कर ली है एवं अभी उसके अन्य से लोगों के केस पर जांच चल रही है। पुलिस के मुताबिक वह म्युचुअल फंड के नाम पर लोगों से कंपनी में निवेश करने के लिए पैसे मांगता था और यह आश्वासन देता था कि उनके पैसे डबल हो जाएंगे। इसके साथ-साथ लोगों से जमीन खरीदा था और उन्हें दोगुना पैसे देने की बात करता था, ऐसा करके उसने कई सारे लोगों के साथ ठगी की।

नटवरलाल के साथ उसकी पत्नी और बेटी भी शामिल थी। जिनकी तलाश पुलिस कर रही है, पुलिस के मुताबिक बेटी और पत्नी कंपनी के डायरेक्टर बनती थी और साथ में यह मिलकर ठगी का काम करते थे।