सोनभद्र में संस्कृत प्रोफेसर को उतारा मौत के घाट, समूचे नगर में अफरा तफरी

उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले में एक कॉलेज के संस्कृत के प्रोफेसर (प्राध्यापक) की सोमवार की रात गला रेतकर हत्या कर दी गई।
 
source: The Indian Express
पुलिस के अनुसार, फतेहपुर जिले के निवासी जगजीत सिंह (45) सोनभद्र जिले के दुद्धी थाना क्षेत्र के भाऊराव देवरस स्नातकोत्तर महाविद्यालय में संस्कृत के प्राध्यापक पद पर तैनात थे।


सोनभद्र, Digital Desk : गुरु की इज़्ज़त करना उन्हें सम्मान देना हम सभी को बचपन से सिखाया गया है, लेकिन इज़्ज़त छोड़िये कई बार लोग उन्हें ज़िंदा बख्शना भी गवारा नहीं समझते। ऐसी ही एक वारदात को अंजाम दिया गया है उत्तर प्रदेश के सोनभद्र ज़िले में, यहाँ के एक स्थानीय कॉलेज के प्रोफेसर (प्राध्यापक) की गला काटकर हत्या कर दी गई, जिसकी ख़बर मिलते ही क्षेत्र में अफरा तफरी फ़ैल गयी । 

45  वर्षीय जगजीत सिंह फतेहपुर जिले के रहने वाले थे। वह सोनभद्र ज़िले के भाऊराव देवरस राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय दुद्धी में संस्कृत के प्रोफेसर थे, साथ ही वह इगनू के कोऑर्डिनेटर भी थे। मंगलवार आधी रात को गला रेतकर उनकी हत्या को अंजाम दिया गया।

वह कोतवाली क्षेत्र के मल्लदेवा गांव में पूर्व लेखपाल के घर में किराए पर परिवार के साथ रहते थे। सुबह जब उनको पत्नी ने पति के शव को बिस्तर पर लहूलुहान देखा तो सकते में रह गई। घटना की जानकारी मिलते ही खबर आग की तरह पूरे मौहल्ले में फ़ैल गई और अफरा तफरी मच गई बाद में पुलिस को बुलाया गया। वारदात की सूचना मिलते ही सभी आला अफसर तुरंत घटना स्थल पर पहुंचे। मौके पर पहुंची पुलिस ने तुरंत हत्या की जांच पड़ताल शुरू की। पुलिस ने न सिर्फ घरवालों से, बल्कि आस पास वालों से, पड़ोसियों से भी तहकीकात शुरू कर दी है।
 


सभी पहलुओं की जांच के साथ साथ पुलिस ने शव को पोस्ट मॉर्टम के लिए भेज दिया है। तहकीकात के अनुसार, पुलिस का कहना है की जल्द से जल्द मामले के आरोपियों को पकड़ा जाएगा और सज़ा दी जाएगी।  

घनी आबादी वाले क्षेत्र में इस तरह की वारदात का होना हैरानी का विषय है, इस बात से सभी मुहल्ले वाले भय में हैं ऐसी घटना के बाद उन्हें लगता है की इंसान अपने घर में भी सुरक्षित नहीं है। ये वारदात एक बहुत बड़ा प्रश्न चिन्ह है। 

फिलहाल पुलिस अपना काम कर रही है, हर संभावित सुराग की खोज की जा रही है।
 

Source: अमर उजाला