Gandhi Jayanti Special: अगर जीवन मे सफल होना चाहते है तो Mahatma Gandhi के इन मूल-मंत्रों को अपनाए, पढ़े पूरी ख़बर


आइए जानते हैं कि महात्मा गांधी के और कुछ सफल मूल्य मंत्रों को, जिसको अपनाने के बाद आपके जीवन में अवश्य सुधार आएगा।

 
image : desktopbackground

गांधी जयंती के तौर पर महात्मा गांधी को घर पर श्रद्धांजलि अर्पित की जाती है।


मुंबई, डिजिटल डेस्क: हर साल अक्टूबर की 2 तारीख को भारत में गांधी जयंती के तौर पर मनाया जाता है। महात्मा गांधी का जन्म इसी तारीख को 1869 को गुजरात के पोरबंदर में हुआ था। गांधी जी के पिता का नाम करमचंद गांधी था, तो उनकी मां का नाम पुतलीबाई था। इस साल 2 अक्टूबर को गांधी जी की 152 वी जयंती मनाई जाएगी। गांधीजी ने न सिर्फ देश को आजादी दिलाई बल्कि अपने पूरे जीवन को बाकियों के लिए एक प्रेरणासोत्र के रूप में सामने रख दिया। आज हम आपको गांधीजी के सफल मंत्रों के बारे में बताने जा रहे हैं:

ज्ञान बांटने से बढ़ता है:

 गांधीजी का मानना था कि ज्ञान जितना बाटोगे, उतना ही बढ़ेगा। इसलिए सभी की मदद करें इससे आपके व्यक्तित्व में निखार आएगा और ज्ञान की उत्पत्ति भी होगी।


हमेशा रखें धैर्य:

गांधी जी का यह मानना था कि कोई भी कार्य करते समय धैर्य का दामन न छोड़े। कभी भी किसी काम में सफलता प्राप्त करने हेतु राह में कई सारी परेशानियां आती हैं। लेकिन हमें उन सभी परेशानियों का सामना धैर्य के साथ करना चाहिए, जिससे हमें सफलता प्राप्त हो।


बचत:

 गांधी जी का मानना था कि कल की बचत जरूर करनी चाहिए। जो पैसा आज हम कमा रहे हैं, उसे भविष्य के लिए जमा करना बहुत ही जरूरी है। यह मूल मंत्र आज के जीवन में तो बड़ा ही जरूरी है।


मजबूत चरित्र:

गांधी जी का यह भी मानना था कि व्यक्ति का चरित्र उसके आत्मसम्मान एवं साहस को प्रदर्शित करता है। इसलिए आपका जितना अच्छा चरित्र होगा, उतना ही लोग आपके पीछे कायल होंगे।