"सीखने की कोई उम्र नहीं होती", 95 साल की दादी ने 3 महीने में सीखा कार चलाना, पढ़े पूरी ख़बर

95 साल की दादी ने 3 महीने में कार चलाना सीखा, हाईवे में दौड़ाई कार। शिवराज सिंह चौहान ने की तारीफ।

 
image source ; Twitter

"सीखने की कोई उम्र नहीं होती"

मुंबई, डिजिटल डेस्क: जिसने भी कहाँ कि, सीखने की कोई उम्र नहीं होती, बिल्कुल सही कही। इस बात को देवास जिले की एक बूढ़ी महिला ने साबित की। 95 वर्ष की रेशम बाई तंवर ने यह साबित की।

दरअसल, देवास जिले की रेशम बाई तंवर एक 95 साल की एक बूढ़ी महिला ने 3 महीना में कार चलाने की क्लास की, और वे गाड़ी चलाना सिख गई। इस वीडियो में आप देख सकते है कि,  दादी अम्मा ग्रे मारुति 800 चला रही है और हाईवे पे फर्राटेदार गाड़ी चला रही है।


इस वीडियो को शिवराज सिंह चौहान ने ट्विटर पर शेयर भी किया। शिवराज सिंह चौहान ने कहाँ कि, सलाम है दादी के हौसले को। यह दादी प्रेरणासोत्र है, इनसे बहुत कुछ सीखने लायक है।


लोगो को यह वीडियो देखकर खूब मजा आ रहा है। इस दादी के जज़्बे को सबने सलाम कर रहे है।