लाल भिंडी की खेती करके खुब कमाई कर रहा भोपाल का यह किसान

हृदय और ब्लड प्रेसर, मधुमेह, हाई कोलेस्ट्रॉल जैसी कई समस्याओं के लिए रामबाण है लाल भिंडी 

 
red bhindi
एक एकड़ भूमि पर कम से कम 40-50 क्विंटल बीज लगा सकते है जिसमें अधिकतम 70-80 क्विंटल भिंड़ी निकल सकती है।

भोपाल,डिजिटल डेस्क: कहते है इंसान अगर कुछ करना चाहे तो उसके पास एक नही कई काम है जिससे वे पैसे कमा कर खुद को साबित कर सकते है। ऐसा ही कुछ कर दिखाया है मध्य प्रदेश के भोपाल जिले में खजुरी कलान के किसान मिश्रीलाल राजपूत ने...मिश्रीलाल राजपूत उन लोगों के लिए मिशाल है जो कहते है कि उनके पास करने को कोई काम नहीं है। हरी सब्जी, आलू, टमाटर बैंगन और हरी भिंडी की तो हर किसान खेती कर पैसा कमा रहा है लेकिन राजपूत नें अपने खेत में ऐसी भिंडी उगाई है जिससे कमाई तो होती ही है साथ ही हेल्थ में भी सुधार होता है। जी हां राजपूत ने जो भिंडीं अपने खेत में उगाई है वह लाल भिंडी है। 

एक समाचार एंजेंसी को दिए एक इंटरव्यू में उन्होंने अपनी भिंडी के फायदों से लेकर इससे होने वाली कमाई का भी खुलासा किया जो बेहद आश्चर्यजनक है।
राजपूत ने बताया कि वाराणसी के इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ वेजिटेबल रिसर्च सेंटर में उन्होंने इसकी ट्रेनिंग ली और फिर इस खेती को करने का फैसला किया जिसके लिए उन्होंने 1 किलो बीज खरीदा। जिसके बाद जुलाई के पहले सप्ताह में उन्होंने उसे बोया और लगभग 40 दिनों के बाद यह पकने भी लगा। उनके खेतों को देखकर अन्य किसान भी इस खेती के आकर्षित हुए।



लाल भिंडी की खेती करने के लिए सबसे बड़ी बात तो यह है कि इसमें किसी भी प्रकार के कीटनाशक की कोई जरूरत नही है। एक एकड़ भूमि पर कम से कम 40-50 क्विंटल बीज लगा सकते है जिसमें अधिकतम 70-80 क्विंटल भिंड़ी निकल सकती है।

इसकी कीमत के बारें में भी मिश्रीलाल ने बताते हुए कहा कि लाल भिंडी साधारण भिंडी से 5-7 गुना ज्यादा महंगी होती है। कही यह 75-80 रुपये प्रति 250 ग्राम / 500 ग्राम पर बिकता है तो कहीं 300-400 रुपये प्रति 250 ग्राम / 500 ग्राम।

वैसे तो सभी हरी सब्जियां स्वादिष्ट और फायदेमंद होती है लेकिन लाल भिंडी हरी भिंडी से भी ज्यादा फायदेमंद और पौष्टिक होती है। इसके अलावा लाल भिंड़ी हृदय और ब्लड प्रेसर, मधुमेह, हाई कोलेस्ट्रॉल जैसी समस्याओं के लिए बेस्ट माना जाता है।