Computer चलाने वाली और English बोलने वाली महिला आज भीख माँगने पर मज़बूर, नौकरी करना चाहती है पर कोई काम नहीं देता

वाराणसी के अस्सी घाट पर एक महिला का वीडियो वायरल हुआ, महिला कंप्यूटर चलाना जानती है एवं अंग्रेजी बोलना भी जानती है। लेकिन फिर भी अस्सी घाट पर भीख मांगती है।

 
self
मिलिए इस महिला से जो पढ़ी-लिखी होने के बावजूद सड़कों पर भीख मांग रही है।

वाराणसी, Digital Desk: बनारस के अस्सी घाट पर भीख मांगने वाली महिला का एक वीडियो, सोशल मीडिया पर वायरल हुआ। यह भीख मांगने वाली महिला अनपढ़ नहीं है, बल्कि अंग्रेजी बोलने वाली एवं कंप्यूटर चलाने वाली महिला है। जो नौकरी न मिलने के कारण बनारस के अस्सी घाट पर भीख मांग रही है।

कौन है यह महिला?

आजकल टेक्नोलॉजी का जमाना है। आजकल के टेक्नोलॉजी के जमाने में सारा काम कंप्यूटर पर होने लगा है। इसीलिए टेक्नोलॉजी के इस जमाने में अगर आपको कंप्यूटर चलाना नहीं आता तो आपका पढ़ा लिखा होना भी अनपढ़ होने के बराबर है। ऐसे में कई सारे लोग हैं जिनके पास योग्यता है, डिग्री है लेकिन उनके पास काम नहीं है। सृष्टि का यह कैसा नियम है कि अनपढ़ लोग लाखों रुपए कमाते हैं और पढ़े लिखे लोग सड़कों पर नौकरी के लिए भटकते रहते हैं, भटकते-भटकते उनके जूते घिस हैं, लेकिन उन्हें नौकरी नहीं मिलती।

सवाल यह उठता है कि सरकार कहती है कि उसने इतने सारे लाखों लोगों को नौकरी प्रदान की। जोकि आज भी योग्य लोग सड़कों पर नौकरी की तलाश में घूम रहे हैं, नौकरी न मिलने पर वह प्राइवेट सेक्टर में मजदूरों की तरह काम करते हैं। काम नहीं मिलता तो चोरी-चकारी करते हैं और अगर चोरी-चकारी के लिए उनका ईमान इजाजत नहीं देता, तो वह भीख मांगने पर मजबूर हो जाते हैं।

सवाल यह उठता है कि इसके लिए कौन जिम्मेदार है? क्योंकि खबर में किसी की स्तिथि को पढ़ना और उस स्थिति को महसूस करना, यह दोनों अलग-अलग बातें हैं।

अस्सी घाट पर पढ़ी-लिखी भिखारन:

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ, जिसमें स्वाति नाम की महिला अस्सी घाट पर भीख मांग रही है। यह महिला अनपढ़ नहीं है, बल्कि पढ़ी लिखी है, कंप्यूटर चलाना जानती है एवं अंग्रेजी बोलना भी जानती है। स्वाति ने बताया कि रोजगार न मिलने के कारण वह नौकरी की तलाश में भीख मांगने पर मजबूर हो गई है। स्वाति ने कहा कि वह भीख मांगती है, लेकिन भीख मांगने का काम भी पूरी निष्ठा के साथ करती है। यानी कि प्रतिदिन एक स्थान पर बैठ जाती है और दैनिक तरीके से भीख मांगने का कार्य करती है। स्वाति पिछले 3 सालों से भीख मांग रही है, ऐसे में बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाला एक छात्र ने उसे कुछ पैसा देना चाहा, लेकिन स्वाति ने साफ इंकार कर दिया और बोली हमें  पैसे नहीं चाहिए, नौकरी चाहिए। ऐसे में व्यक्ति ने उसका वीडियो रिकॉर्ड कर दिया और उसकी समस्या को फेसबुक पर वीडियो के रूप में अपलोड कर दिया।

उन्होंने फेसबुक पर वीडियो अपलोड करते हुए कहा कि अस्सी घाट पर यह महिला स्वाति है, जो कंप्यूटर साइंस की डिग्री रखी हुई है। एक बच्चे को जन्म देने के बाद उसका दाहिना हिस्सा ख़राब हो गया है। स्वाति 3 साल पहले बनारस आई थी और  वह मानसिक रूप से स्वस्थ है। लेकिन दाहिने हिस्से में लाचारी के बाद उसे घाट पर भीख मांगना पड़ रहा है। स्वाति को पैसे की नहीं नौकरी की जरूरत है, नौकरी यानी की आर्थिक सहायता की जरूरत है। अगर कोई इसे नौकरी प्रदान कर देगा, तो स्वाति का बहुत भला होगा। क्योंकि स्वाति कंप्यूटर चलाना जानती है एवं अंग्रेजी भी बोल लेती है।