चरम पर पहुँची पाकिस्तान में बेरोजगारी, 1 पोस्ट चपरासी भर्ती के लिए 15 लाख लोगों ने किया आवेदन, सोशल मीडिया पर उड़ा मजाक


पाकिस्तान की हाईकोर्ट में चपरासी की एक पद की भर्ती के लिए लगभग 15 लाख से अधिक लोगों ने आवेदन किया। इन उम्मीदवारों में कुछ लोग ऐसे भी थे जिनके पास M.PHIL की डिग्री थी।

 
image source : Instagram imran khan


मुंबई, डिजिटल डेस्क: आज से कुछ साल पहले जब पूर्व क्रिकेटर पाकिस्तान इमरान खान प्रधानमंत्री के लिए चुना गया था। इमरान खान ने कई सारे वादे किए थे, उन्होंने कहाँ थ वो पाकिस्तान को नया पाकिस्तान बनाएंगे, एक मजबूत पाकिस्तान बनाएंगे और इस देश को, इस दुनिया का सबसे अच्छा देश।

लेकिन पाकिस्तान आज और खराब होता दिख रहा है। पाकिस्तान की इकॉनमी बेहद खराब है। जिसकी वजह से बेरोजगारी चरम सीमा पर पहुंच गई है। इसका अंदाजा आप हाल ही में पाकिस्तान की कोर्ट में एक चपरासी पद की भर्ती के लिए 15 लाख से ज्यादा लोगों ने आवेदन किया, इस बात से लगा सकते हैं।

पाकिस्तान इंस्टिट्यूट ऑफ डेवलपमेंट इन इकोनॉमिक्स के बारे में अगर बात किया जाए और उनके आंकड़ों पर गौर करें तो पाकिस्तान में बेरोजगारी लगभग 16 फ़ीसदी तक पहुंच गई है। यह आंकड़ा इमरान वाली सरकार के 6.5 फ़ीसदी के दावे से बिल्कुल उल्टी है।

जहां इमरान खान ने दावा किया था कि वे बेरोजगारी को जड़ से मिटा कर फेंक देंगे। वही बेरोजगारी आज अपने चरम सीमा पर है, जिसकी वजह से आर्थिक दृष्टिकोण से पाकिस्तान बेहद ही खराब स्थान पर है।