रेलवे की टिकट नहीं तो होगी कड़ी कार्रवाई, ट्रेन में सामान हुआ चोरी तो मिलेगा मुआवजा, जानिए रेलवे संबंधित इन महत्वपूर्ण बातों को

रेलवे में अगर आपके पास टिकट नहीं होती है, तो आपको जुर्माना देना पड़ता है। लेकिन अगर आपका सामान चोरी होगा तो आपको मुआवजा भी मिलेगा।

 
image : livemint
जानिए रेलवे से जुड़ी सभी अहम जानकारी को।

Digital Desk: अगर आप भी रेल में सफर करते हैं तो आपके लिए रेलवे द्वारा कुछ महत्वपूर्ण नियमों को जानना काफी जरूरी हो जाता है। रेलवे प्रशासन को कोरोनावायरस महामारी को लेकर काफी सख्त है। ऐसे में रेलवे के कुछ नियम ऐसे हैं, जो आपके लिए महत्वपूर्ण भी साबित हो सकते हैं। जैसे की रेल में सफर करने के दौरान अगर आपका सामान चोरी हो जाता है तो आपको मुआवजा मिलता है, अगर आप बिना टिकट पकड़े जाते हैं तो आप पर जुर्माना लगता है एवं कड़ी कार्रवाई भी की जाती है।

नहीं जानते होंगे आप यह नियम:

आपको पता बता दें कि यदि यात्रा के दौरान आपका सामान चोरी होता है, तो आपको मुआवजा मिल सकता है। आप अपने मुआवजे के लिए क्लेम कर सकते हैं। इतना ही नहीं अगर 6 महीने के अंदर आपका सम्मान नहीं मिलता तो आप उपभोक्ता फोरम भी जा सकते हैं। ऐसे कई सारे नियम है जिनके बारे में आपको जानना जरूरी है। सुप्रीम कोर्ट के नियम के अनुसार यदि ट्रेन में सफर करने के दौरान आपका सामान चोरी हो जाता है। तो आप आरपीएफ थाने जाकर रिपोर्ट दर्ज करवा सकते हैं। साथ ही वहां पर एक फॉर्म भी भर सकते हैं, जिसमें लिखा होता है कि यदि आपका सामान 6 महीने में नहीं मिला तो आप उपभोक्ता फार्म जा सकते हैं या कीमत का मूल्यांकन करने के बाद रेलवे आपको इसका मुआवजा देगी।

ज़ुर्माना:

सफर के दौरान यदि आपके पास टिकट नहीं होती है, तो आप जानते हैं की धारा 138 के तहत आप पर कड़ी कार्यवाही की जा सकती है। इसके साथ ही साथ रेलवे आपने जितना सफर किया है, उसकी दूरी के अनुसार आप से किराया वसूलता है और जिस में ₹250 तक की पेनल्टी भी शामिल होती है।

केस भी होगा दर्ज़:

इसके अलावा यदि आप रेलवे में सफर करते हैं और टिकट में छेड़छाड़ करते हैं और टीसी द्वारा पकड़े जाते हैं, तो रेलवे धारा 137 के तहत आप पर मुकदमा दर्ज होता है। जिसमें रेल में यात्रा करने के लिए 6 महीने तक आप पर प्रतिबंध लग जाता है और साथ ही 1000 का जुर्माना भी लग सकता है। महत्वपूर्ण स्थिति में आप पर दोनों सज़ा लागू हो सकती है।