मिर्ज़ापुर अच्छी ख़बर: अब 13,000 निवासियों को मिलेगी साफ पानी के कनेक्शन की सुविधा

मिर्ज़ापुर के 13000 निवासियों का अमृत योजना के तहत हर घर में पानी का कनेक्शन मुहैया कराया जाएगा।

 
image: india infra hub

हर घर में अब फिल्टर्ड पानी।


मिर्ज़ापुर, Digital Desk: आज भी प्रदेश में कई ऐसे शहर है, जहां पर पानी की पूर्ण रूप से सुविधा नहीं है। ऐसे में सरकार के अथक प्रयासों के बाद भी कुछ इलाके ऐसे हैं, जहां पर पानी की व्यवस्था नहीं है। कुछ जगह तो पानी है लेकिन वह पानी इतना साफ नहीं है की उसे पीने के इस्तेमाल किया जा सके। ऐसे में अब मिर्ज़ापुर के निवासियों के लिए एक अच्छी खबर हम लेकर आए हैं। मिर्ज़ापुर के लगभग 13000 निवासियों को पानी प्रदान कराया जाएगा। मिर्ज़ापुर के इन सभी घरों में पानी का कनेक्शन कराया जाएगा, जिससे उन्हें पीने के पानी की सुविधा मिलेगी।

सार:

अमृत योजना के तहत लगभग नगर के 13000 से भी ज्यादा घरों को पानी का कनेक्शन दिया जा सकेगा। ऐसे करके लगभग 35000 घरों को पानी का कनेक्शन दिया जाएगा। यह कनेक्शन की प्रक्रिया अलग-अलग फ़ेज़ में होगी। इसीलिए पहले से इसमें लगभग 13000 घरों को पानी का कनेक्शन दिया जाएगा। मार्च 2022 तक अमृत योजना के पूरे होने की डेडलाइन शासन द्वारा तय की गई है। नगर में जान्हवी होटल के सामने गंगा में से पानी लिफ्ट करने के लिए इंटेक वेल लगभग बनकर तैयार हो चुका है। नगर में लाल डिग्गी स्थित जलकल परिसर में निर्माणाधीन वाटर ट्रीटमेंट प्लांट का कार्य भी लगभग 60 से 70% कंप्लीट हो चुका है। उम्मीद है कि मार्च तक डब्ल्यूटीपी कार्य भी पूरा हो जाएगा। उधर नगर के मुख्य हिस्से में पाइप लाइन डालने का भी कार्य शुरू हो चुका है, सड़क एवं गलियों का भी पुनः निर्माण किया जा रहा है जिसमें पाइपलाइन दोबारा डाली जाएगी। इस सुविधा से लगभग 13000 घरों को पानी का कनेक्शन दिया जाएगा। पिछली बार जब नरेंद्र मोदी बनारस आए थे, तो इस मीटिंग में नगर पालिका के अध्यक्ष मनोज जायसवाल ने लगभग 13000 घरों को पानी का कनेक्शन देने वाली बात उठाई थी।

फ़िल्टर वॉटर:

124 करोड़ की इस परियोजना के तहत लोगों को अब फिल्टर वाटर पीने को मिलेगा। वॉटर ट्रीटमेंट प्लांट ने गंगा के पानी को उठाकर फिल्टर में लाया जाएगा। इससे लोगों को पानी एकदम साफ मिलेगा। यहां फिल्टर वाटर ओवर हेडटैंक में जाएगा, जिसके बाद ओएचपी से पाइप लाइन के सहारे लोगों के घर तक पहुंच जाए करेगा। जिससे उन्हें स्वस्थ एवं शुद्ध जल पीने को मिलेगा।

डीपीआर:

जल निगम नगरिया शाखा के इंजीनियर अफजल खान ने बताया कि अमृत योजना का पार्ट अब शुरू हो चुका है। इसमें पहले चरण में लगभग 13000 घरों को पानी का साफ कनेक्शन दिया जाएगा, इसके बाद बाकी बचे घरों को नया कनेक्शन लेने के लिए डीपीआर तैयार करके मुख्यालय भेज दिया जाएगा। स्वीकृति मिलने के बाद लोगों को कनेक्शन जारी किए जाएंगे।