UP Election 2022: चुनाव से पहले हुए चाचा-भतीजा एक, अखिलेश यादव मिलने पहुचे शिवपाल सिंह यादव के घर किया ऐतिहासिक एलान

कार्यकर्ताओं के साथ बैठक के बाद प्रगतिशील समाजवादी पार्टी ने सपा में विलय का फैसला लिया है। 

 
akhilesh yadav
 शिवपाल को सपा कितने टिकट देगी यह तय नहीं हो पाया है सूत्रों की माने तो शिवपाल (Shivpal Singh Yadav) समर्थकों को 15 टिकट दिए जायेंगे।


Digital Desk: समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav), प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव (Shivpal Singh Yadav) से मिलने पहुंचे। चाचा शिवपाल के घर पर बंद कमरे में हुई अखिलेश से बातचीत में विधानसभा चुनाव को लेकर गठबंधन/विलय पर लगाई मुहर।

शिवपाल (Shivpal Singh Yadav) और उनके परिवार ने अखिलेश का स्वागत किया सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) इन दिनों प्रदेश के अलग-अलग जिलों में विजय रथ यात्रा निकाल रहे हैं। बुधवार को जौनपुर में उन्होंने कहा कि भाजपा की सरकार ने साढ़े चार साल के कार्यकाल में जनता को धोखा दिया है सरकार के दावे और विज्ञापन झूठे हैं। सूचना मिल रही है कि तीन माह में डीजल और पेट्रोल कंपनियों को 600 गुना फायदा हुआ है।

2016 में आई थी रिश्तों में खटास

इस बैठक के बाद दोनों ने अपने अपने ट्विटर अकाउंट से ऐलानिया ट्वीट किया और आगामी चुनाव में एक दूसरे का हाथ थामने की बात कही। चाचा शिवपाल सिंह यादव को 2016 में बर्खास्तगी के बात दोनों के रिश्तों के बीच दरार देखने को मिली थी। और फलस्वरूप जनवरी 2017 में प्रगतिशील समाजवादी पार्टी का गठन किया था।